यूपी बोर्ड: राजधानी के 69 केंद्रों पर ही दोबारा होगी हाईस्कूल विज्ञान की परीक्षा

यूपी बोर्ड हाईस्कूल की विज्ञान की पुन: परीक्षा राजधानी के सिर्फ 69 केंद्रों पर ही होगी। बोर्ड ने इन्हीं केंद्रों की परीक्षा रद्द की है। इन केंद्रों पर 10 मार्च को सुबह की पाली में विज्ञान की दोबारा परीक्षा होगी। महाराजगंज में पेपर लीक होने की वजह से गत 20 फरवरी को आयोजित परीक्षा को निरस्त कर दिया गया था।

 

गत 20 फरवरी को राजधानी के सभी 137 केंद्रों पर हाईस्कूल कीविज्ञान की परीक्षा आयोजित की गई थी। गत 19 फरवरी की रात में महाराजगंज में पेपर लीक हो गया था, जिस वजह से बोर्ड परीक्षा निरस्त कर दी थी।

पेपर का जो कोड लीक हुआ था उसी कोड से राजधानी के 69 केंद्रों पर परीक्षा संपन्न कराई गई थी। इसी वजह से बोर्ड ने सिर्फ 69 परीक्षा केंद्रों पर ही विज्ञान की परीक्षा दोबारा कराने का निर्णय लिया है।

जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि 10 मार्च को सुबह की पाली में यह परीक्षा दोबारा कराई जाएगी। केंद्र संख्या 13412 से 13480 तक में दोबारा परीक्षा होगी।

ये सभी परीक्षा केंद्र राजकीय और सहायता प्राप्त विद्यालय हैं। डीआईओएस ने बताया कि जिन परीक्षा केंद्रों पर दोबारा परीक्षा होगी वहां के व्यवस्थापकों को निर्देश दे दिए गए हैं।

परीक्षार्थी अपने विद्यालय से संपर्क साध सकते हैं। महाराजा अग्रसेन विद्यालय, मोतीनगर के प्रधानाचार्य डॉ. कमल कुमार तिवारी ने बताया कि उनके विद्यालय के हाईस्कूल के सभी छात्रों की विज्ञान की परीक्षा दोबारा होगी। परीक्षार्थी अपने-अपने परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देंगे।

25,076 विद्यार्थियों को दोबारा नहीं देनी होगी परीक्षा

गत 20 फरवरी को आयोजित र्हाईस्कूल की विज्ञान परीक्षा के लिए 57,421 परीक्षार्थी पंजीकृत थे, जिनमें से 52,810 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी और 4,611 अनुपस्थित रहे। अब बोर्ड ने राजधानी के केवल 69 परीक्षा केंद्रों की ही परीक्षा दोबारा कराने निर्देश दिया है। इन पर केवल 27,734 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। 25,076 परीक्षार्थियों को दोबारा परीक्षा नहीं देनी होगी। इनकी कॉपी अब मूल्यांकन के लिए भेजी जाएगी। जबकि 27,734 परीक्षार्थियों की कॉपी मूल्यांकन के लिए नहीं भेजी जाएगी। इन्हें दोबार परीक्षा देनी होगी और 10 मार्च वाली उत्तर पुस्तिका ही मूल्यांकन के लिए भेजी जाएगी।
 
 

You may also like

स्वच्छ्ता अभियान में जूट के बैग बांट रहे डॉ.भरतराज सिंह

एसएमएस, लखनऊ के वैज्ञानिक की सराहनीय पहल लखनऊ