ताजनगरी में अनोखी कहानी, कॉलेज से शुरू सहेलियों की लव स्टोरी शादी में बदली

आगरा। मोहब्बत की मिसाल बनी ताजनगरी आगरा में एक और मोहब्बत ने अपना नाम विशिष्ट सूची में शुमार करा लिया है। आगरा में दो सहेलियों की प्रेम कहानी सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। उनकी दोस्ती कॉलेज में साथ पढ़ाई के दौरान हुई इसके बाद साथ जीने मरने की कसमें भी खाली। इसके बाद दोनों ने जाति और धर्म की दीवार तोड़कर पिछले दिनों अंबेडकर जयंती के दौरान सामूहिक विवाह सम्मेलन से शादी कर ली। बौद्ध धर्म की विधि से शादी करके घर से अलग रहने लगीं। आज सुबह जब दोनों की हकीकत सामने आई तो परिवार के लोगों ने काफी हंगामा किया। मगर अभी वो साथ रहने पर अड़ी हुई हैं।ताजनगरी में अनोखी कहानी, कॉलेज से शुरू सहेलियों की लव स्टोरी शादी में बदली

आगरा के टेडी बगिया के विकास नगर निवासी युवती के साथ नगला किशनलाल में रहने वाली युवती कालिंदी विहार के एक महाविद्यालय में पढ़ती थीं। दो वर्ष पहले स्नातक की पढ़ाई के दौरान उनमें दोस्ती हुई। इनमें नगला किशनलाल में रहने वाली युवती ब्राह्मण समाज से है। वह बॉयकट हेयर स्टाइल में जींस टीशर्ट पहनकर रहती है। विकास नगर निवासी युवती दलित समुदाय से है।

दोनों के बीच प्यार हो गया। इसके बाद इन दोनों ने इस प्यार को शादी में बदलने का फैसला कर लिया। एक वर्ष पहले सवर्ण युवती लड़का बनकर सहेली के घर पहुंची और उसकी मां के सामने शादी का प्रस्ताव रख दिया। उसकी मां ने जातियों का हवाला देते हुए शादी से इंकार कर दिया और कुछ दिन में ही बेटी के लिए दूसरा लड़का देखकर शादी तय कर दी। दोनों सहेलियां बौखला गईं और उन्होंने लड़के के घरवालों को धमकी देकर रिश्ता तुड़वा दिया। इसके बाद हारकर टेढ़ी बगिया निवासी सहेली की मां ने भी शादी के लिए हां कर दी।

आगरा में 16 अप्रैल को अंबेडकर जयंती के आयोजन के बाद टेडी बगिया में जाटव समाज के युवक युवतियों का सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित हुआ। आगरा के थाना एत्माद्दौला में 16 को सामूहिक विवाह सम्मेलन में लड़की ने लड़का बनकर लड़की से की शादी। मामला सामने आने पर दोनों लड़कियों ने अलग होने से इनकार किया। दोनों ने शादी कर ली। इसके बाद दोनों साथ रहने लगे। दूल्हा बनी सहेली ने सम्मेलन में फर्जी मां-बाप खड़े किए थे। अपने परिवार के लोगों को शादी के संबंध में कोई जानकारी नहीं दी थी।

शादी के बाद और घर से भी अलग रह रही थी। इस दौरान परिवार के लोग तलाश में आज टेढ़ी बगिया के विकास नगर पहुंचे। उसकी सहेली के घर वालों से अपनी बेटी के बारे में पूछा तो वह चौंक गए। फोन करके दोनों को घर पर बुलाया गया इसके बाद दूल्हा बनने वाली युवती के कपड़े उतरवाकर देखा गया तो असलियत सामने आ गई।

इसके बाद उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस दोनों को थाने ले गई मगर दोनों साथ रहने पर ही अड़ी हैं । सहेलियों का कहना है कि उन्हें न तो जाति से मतलब है और ना ही लड़के लड़की होने से। उन्हें कोई अलग नहीं कर सकता दोपहर तक दोनों को थाना में पुलिस के साथ ही उनके परिवार के लोग समझाने में लगे थे। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बटुक भैरव देवालय में भादों का मेला 23 सितम्बर को

 अभिषेक के बाद होगा दर्शन का सिलसिला, नए