लालू की सेवा के लिए मुकदमे में ‘फंसकर’ जेल पहुंचे दो ‘सेवादार’

चारा घोटाले में रांची जेल में बंद लालू यादव की सेवा में उनके दो खास सहायक के भी मौजूद होने के विवाद ने तूल पकड़ लिया है। मीडिया में ऐसी जानकारी आने के बाद उनके विरोधी जदयू ने इसकी कड़ी आलोचना की है। पार्टी का कहना है कि लालू का सामाजिक न्याय के प्रति प्रतिबद्धता केवल पाखंड है और वह केवल अपनी और अपने परिवार की चिंता करते हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लालू को सजा का फैसला सुनाए जाने से कुछ घंटे पहले ही उनके रसोइये और एक सहायक को रांची जेल में भेज दिया गया था। इनके खिलाफ आरोप का पता नहीं है। बताया जाता है कि दोनों ने अपने पड़ोसियों को खुद के खिलाफ पुलिस में शिकायत देने के लिए प्रोत्साहित किया था। इस बीच राजद अपने नेता के बचाव में कूद पड़ा है। राजद नेता शक्ति सिंह यादव ने आरोप को खारिज करते हुए कहा कि लक्ष्मण महतो और मदन यादव की जेल में मौजूदगी महज ‘संयोग’ है।  

लालू यादव के खास रसोइये लक्ष्मण महतो और सहायक मदन यादव को ‘मनगढ़ंत’ अपराध में जेल भेजा गया है। बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल के अधीक्षक ने हालांकि इस पर अभी सफाई नहीं दी है। अन्य अधिकारी भी इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं। जनता दल यू नेता ने इस खबर के सामने आने के बाद लालू की जमकर आलोचना की है। पार्टी प्रवक्ता नीरज कुमार ने पटना में कहा कि लालू यादव सामंती मानसिकता के व्यक्ति हैं और निजी स्वार्थ के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।    

 

Facebook Comments

You may also like

सरेंडर करने पहुंचे अमानतुल्लाह ने पहने थे ऐसे कपड़े सोशल मीडिया पर हो गए ट्रोल

दिल्ली में मुख्य सचिव और सरकार के बीच