बड़ी सी बड़ी बीमारी के लिए बेहद कारगर है तुलसी, ऐसे करें इस्तेमाल

मौसम में बदलाव या कमजरो इम्युनिटी के चलते बहुत से लोगों को बार-बार सर्दी-खांसी और बुखार की समस्या होती है। ऐसे में लगातार दवाओं का इस्तेमाल आपके लिए घातक साबित हो सकता है। आप तुलसी की पत्तियों से इन छोटी-छोटी समस्यायों से राहत पा सकते हैं। तुलसी के सेवन से कई बीमारियों के खतरे को कम किया जा सकता है। तुलसी के बीज पत्ते सभी स्वास्थ्य लाभों से भरे होते हैं। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी- बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-फ्लू, एंटी-बायोटिक, एंटी-इफ्लेमेन्ट्री के गुण पाए जाते हैं। तुलसी को वायरल फ्लू से बचाने के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है। साथ ही इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए भी लाभदायक मानी जाती है। तुलसी सर्दी-खांसी से लेकर कई बड़ी और गंभीर बीमारियों में भी एक कारगर औषधि है…..


तुलसी की चायएक कप गर्म पानी में तुलसी के कुछ पत्ते डालकर कम से कम दस मिनट का उबालें। बुखार, मलेरिया और डेंगू बुखार से राहत पाने के लिए इसे दिन में दो बार पिएं।

तुलसी का दूधअगर आपको तेज बुखार है तो आप तुलसी के पत्तों को दूध में डालकर पिएं। इसके लिए आधे लीटर पानी में तुलसी के पत्ते और इलायची पाउडर डालकर उबाल लें। इसमें दूध और चीनी मिलाकर पिएं।
तुलसी का जूसशरीर का तापमान कम करने के लिए आप तुलसी के पत्तों का जूस भी पी सकते हैं। ये बच्चों के लिए ज्यादा प्रभावी है। 10-15 पत्तों को थोड़े से पानी में मिलाकर जूस निकाल लें। हर दो से तीन घंटे में इसे ठन्डे पानी के साथ पिएं।
मुंह की बदबूतुलसी को मुंह की बदबू को दूर करने के लिए लाभदायक माना जाता है। अगर आपके मुंह से बदबू आ रही है, तो तुलसी के कुछ पत्तों को चबा लें। ऐसा करने से दुर्गंध चली जाती है. और कोई साइडइफेक्ट भी नहीं होते इसलिए आप तुलसी का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

पिंपल्सतुलसी पिंपल्स की समस्या से छुटकारा दिलाने में मददगार हो सकती है। तुलसी की पत्तियों का सेवन कर कील-मुहांसे की समस्या को दूर किया जा सकता है। इसके अलावा ये आपके चेहरे को चमकदार बनाने में भी मदद कर सकती है। 
लूजमोशनतुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीस लें। इसके बाद इसे दिन में 3-4 बार चाटते रहें। ऐसा करने से दस्त रुक जाते हैं और आपको लूजमोशन में आराम मिल सकता है। 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 4 =

Back to top button