सच्चे देशभक्त हैं अक्षय कुमार, फिल्में में देशभक्ती और असल में जवानों की मदद

देशभक्ति से भरपूर फिल्मों के लिए अभिनेता भारत कुमार को याद किया जाता है। भारत कुमार ने देशभक्ति फिल्मों के एक खास एक्टर के रूप में सशक्त पहचान बनाई थी। नई फिल्मों में देखा जाए तो हिंदी सिनेमा में अक्षय कुमार की पहचान खिलाड़ी कुमार के तौर पर रही है बीते कुछ सालों से अक्षय कुमार ने अपनी पहचान एक देशभक्त अभिनेता के तौर पर बना ली है।

सच्चे देशभक्त हैं अक्षय कुमार, फिल्में में देशभक्ती और असल में जवानों की मदद
धीरे धीरे इस खिलाड़ी की छवि एक सच्चे देशभक्त एक्टर वाली बन गई है। एक ओर अक्षय अपनी फिल्मों से देशभक्ति जगाते हैं तो दूसरी ओर वह शहीद जवानों की आर्थिक मदद भी करते हैं। अक्षय को साल 2016 में नेशनल अवोर्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है। अक्षय इंडिया के नए भारत कुमार बन चुके हैं। गब्बर, एयरलिफ्ट, रुस्तम , हॉलीडे  और नमस्ते लंदन, टॉयलेट एक प्रेम कथा ,बेबी, जैसी फिल्में हैं जिनमें खिलाड़ी कुमार ने दिखाया देश प्रेम की मिसाल पेश की है। अक्षय ने जता दिया है कि वह किस कदर अपने देश से प्यार करते हैं। अक्षय चुन-चुन कर ऐसा रोल कर रहे है – जो उन्हें नेशनल हीरो बनाए। वो आर्मी वालों को सलाम करते हुए – हॉलीडे बनाते हैं। करप्ट सिस्टम से भिड़ने के लिए गब्बर बन जातेॉ है। नेवी के लिए – रुस्तम बनते हैं। सीक्रेट सर्विस के लिए बेबी मिशन पर जाता हैनेशनल फ्लैग लेकर एयलिफ्ट करते हैं। 

गणतंत्र दिवस के दिन ही इस बड़ी अभिनेत्री का हुआ निधन, फ़िल्मी जगत स्तभ्य…

 

देश की सुरक्षा ओर आतंकवाद के लिए ही नहीं अक्षय सामाजिक समस्याओं के लिए भी फिल्म बनाते नजर आ रहे हैं।  बीते दिनों स्वच्छ भारत के लिए अक्षय ने एक ऐसी देसी लवस्टोरी टॉयलेट एक प्रेम कथा बनाई वहीँ अब वह गांव की महिलाओं को सैनटरी नैपकिन उपलब्ध कराने की मुहिम छेड़े हुए हैं। इंडिया का हीरो बनकर – अक्षय लोगों को स्वच्छ भारत का पाठ पढ़ाने निकल चुके हैं। अक्षय की फिल्में अक्षय की फिल्में अब देशभक्ति का जज्बा दिखाती है, वतन पर जान कुर्बान कर देने का पाठ पढ़ाती है। अक्षय कुमार फिल्मी परदे पर कभी देशभक्त एनआरआई बने अपनी फिल्मों में खिलाड़ी कुमार ने हमेशा ही भारत माता के आन, बान और शान की रक्षा की। फिल्मी पर्दे पर अक्षय कुमार की छवि एक देशभक्त हीरो रही ही है। लेकिन ये देशभक्ति रंगीन पर्दे पर ही नहीं बल्कि असल जिंदगी में भी खुद में उतार चुके है अक्षय। 

 

 

छत्तीसगढ़ के सुकमा में शहीद हुए सीआरपीएफ के 12 शहीद जवानों के परिवार वालों के लिए अक्षय कुमार मसीहा बनकर पहुंचे। 11 मार्च 2017 को सुकमा में शहीद हुए जवानों के परिवार वालों को अक्षय कुमार ने एक करोड़ 8 लाख रुपये दिया है। अक्षय हर शहीद जवान के परिवार वालों को 9 लाख रुपये दे रहे हैं। अक्षय के इस उदारता की ताऱीफ सीआरपीएफ ने ही नहीं बल्कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी की है। 

 

जब जब देश के सैनिकों ने शहादत दी या फिर उनपर आतंकी हमला हुआ …खिलाड़ी कुमार ने एक देशभक्त हीरो की तरह सामने आए। कभी सोशल मीडिया पर वीडियों डालकर सैनिकों का हौंसला बढ़ाया तो कभी शहीद के परिवारों को मदद पहुंचाकर मानवता की मिसाल कायम की। 

असम के तिनसुकिया में उल्फा आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में शहीद हुए एन.के. नरपत सिंह के परिवार के लिए भी अक्षय बने मददगार। नरपतसिंह अपने पीछे पत्नी और तीन बेटियां छोड़ गए। जैसे ही यह खबर अक्षय कुमार तक पहुंची उन्होंने परिवार वालों के अकाउंट में 9 लाख रुपए की जमा करवाए। एक साल पहले सेना के शहीद जवानों के परिजनों को आर्थिक मदद देने के लिए अक्षय कुमार ने एक ऐप भी शुरू किया है जिसके जरिए आम लोग अपने सामर्थ्य के हिसाब से शहीद के परिवार की मदद कर सकते हैं। महाराष्ट्र में सूखा पड़ा और किसानों ने आत्महत्या करनी शुरू की  तब भी अक्षय कुमार मदद के लिए सबसे पहले दौड़े। 

 

 

अक्षय पिछले दो साल से  महाराष्ट्र के सूखा पीड़ित परिवारों की आर्थिक रुप से मदद कर रहें हैं।। अक्षय हर महीने करीब 50 हजार से 1 लाख तक की रकम इन परिवारों को दे रहें हैं। ये पैसा एक NGO के जरिए करीब 30 परिवारों तक पहुंचाया जा रहा है। अक्षय कुमार की दरियादिली  ने ये साबित कर दिया है कि वो सिर्फ रियल लाइफ में भी किसी हीरो से कम नहीं हैं। 

 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button