इससे पहले बुधवार को भी यवतमाल के नजदीक बेलोन गांव में हुए एक ऐसे ही एक्सिडेंट में दो लोगों की मौत हो गई थी जबकि 18 लोग घायल हो गए थे. ये हादसा तब हुआ था जब नागपुर की तरफ जा रही एक बस एक टू व्हीलर से टकरा गई थी. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया था कि बस काफी तेज स्पीड में थी. बस के ड्राइवर ने बाइक को ओवरटेक करने के चक्कर में बाइक को टक्कर मार दी और इसके बाद खुद का संतुलन बिगड़ने से बस पलट गई.

सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी रोड एक्सिडेंट में कमी नहीं हो पा रही. सेव लाइफ फाउंडेशन ने रोड एक्सिडेंट पर एक रिसर्च की है. अपनी रिपोर्ट ‘रोड क्रैश डेटा 2016’ में सेव लाइफ फाउंडेशन ने बताया है कि भारत में हर घंटे में 17 लोग रोड एक्सिडेंट में अपनी जिंदगी गंवा देते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक दशक में 13 लाख लोग सड़क हादसे में अपनी जान गंवा चुके हैं.