आज का राशिफल और पंचांग: 5 जुलाई दिन गुरुवार, जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन

।।आज का पञ्चाङ्ग।।
आप सभी का मंगल हो 5 जुलाई दिन गुरुवार

ऋतु-वर्षा
माह-आषाढ़
पक्ष-कृष्ण
तिथि-सप्तमी
सूर्य-उत्तरायण
सूर्योदय-05:13
सूर्यास्त-06:47
राहूकाल(अशुभमुहूर्त)दोपहर
दिशाशूल-दक्षिण
शुभदिशा-उत्तर
अमृतमुहूर्त-दोपहर 02:10 से 03:54 तक

आज का राशिफल और पंचांग: 5 जुलाई दिन गुरुवार, जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन।।आज का राशिफल।।

मेष:-
आज थोड़ी दौड़-धूप रह सकती है। इसके पीछे धन खर्च भी होगा। सरकारी कामों में सफलता मिलेगी। दूर रहनेवाले परिजनों से शुभ समाचार मिल सकते हैं। पर्यटन की संभावना है। अविवाहितों के लिए विवाह का योग है।
राशिरत्न:-मूँगा

वृष:-
आज आप नए कार्यों का प्रारंभ कर सकेंगे। नौकरीपेशा लोगों के लिए आज का दिन शुभ है। आय वृद्धि या पदोन्नति का योग है। सरकारी लाभ की उम्मीद रख सकते हैं। गृहस्थ जीवन में सुख- शांति रहेगी। उच्च पदाधिकारियों का प्रोत्साहन आपका उत्साह बढ़ाएगा। अधूरे कार्य पूर्ण होंगे।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल

मिथुन:-
आज दिन के दौरान आपको थोड़ी-सी प्रतिकूलताओं का सामना करना पड़ सकता है। शरीर में स्फूर्ति का अभाव रह सकता है। परिणामस्वरूप निर्धारित काम पूरे होने में विलंब हो सकता है। मानसिक व्यग्रता अनुभव कर सकते हैं। उच्च पदाधिकारियों के साथ वाद-विवाद में न उतरने की सलाह है। प्रतिस्पर्धियों से सचेत रहें।
राशिरत्न:-पन्ना

कर्क:-
क्रोध पर नियंत्रण रखें। आज संयम रखना बहुत आवश्यक है। खान-पान का ध्यान न रखेंगे तो स्वास्थ्य खराब होने की पूरी-पूरी संभावना है। परिजनों से विवाद की स्थितियां है, सचेत रहें। आज नए काम की शुरुआत न करे। खर्चों पर नियंत्रण रखें।
राशिरत्न:-मोती

सिंह:-
आज जीवन साथी के साथ सौम्यता से पेश आएं। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यापार में साझेदारों के साथ संबंध खराब न हों, इसका ध्यान रखें। वाणी और व्यवहार को आज संतुलित रखने की जरूरत है। कुछ लोगों के साथ मुलाकात आनंददायक रहेगी।
राशिरत्न:-माणिक्य

कन्या:-
आज आपको हरेक मामले में अनुकूलता का अनुभव होगा। घर में सुख-शांति स्थापित होगी, जिससे मन प्रसन्न रहेगा। सुखप्रद घटनाएं घटेंगी। स्वास्थ्य बना रहेगा। बीमार व्यक्तियों के स्वास्थ्य में सुधार होगा। आर्थिक लाभ की प्राप्ति की उम्मीद है। कार्यक्षेत्र में भी सभी का सहयोग मिलेगा। स्पर्धियों से सफलता मिलेगी।
राशिरत्न:-पन्ना

तुला:-
आज आप अपने पसंद के विषय पर और अधिक जानकारी जुटाने का प्रयास करेंगे। आपकी कल्पना और सृजनशक्ति की प्रगति से संतोष अनुभव करेंगे। व्यर्थ वाद-विवाद या चर्चा में न पड़े। स्वास्थ्य के मामले में पाचनतंत्र से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। प्रिय व्यक्ति के साथ मिलन-मुलाकात सुखद रहेगी।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल

वृश्चिक:-
मानसिक और शारीरिक थकान हो सकती है। परिवार में बड़ों से अनबन न हो, इसका ध्यान रखें। माताजी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। आर्थिक नुकसान और सार्वजनिक जीवन में मानहानि न हो इसका ध्या रखें। जमीन, वाहन आदि के सौदे करने या उसका दस्तावेज बनवाने से बचे। स्त्रीवर्ग तथा पानी से नुकसान होने की संभावना है। सावधानी बरतें, लाभ होगा।
राशिरत्न:-मूँगा

धनु:-
आज आप अपने पसंद के विषयों के बारे में अधिक खोज करेंगे। आपका मन शांत और प्रसन्न रहेगा। भाई- बहनों के साथ अधिक मेल-जोल रहेगा। नए काम की शुरुआत आज कर सकते हैं। सम्बंधियों तथा मित्रों का आपके यहां आगमन होने से आनंद अनुभव होगा। भाग्य वृद्धि का अवसर मिलेगा।
राशिरत्न:-पुखराज

मकर:-
आज संयमित वाणी आपको बहुत-सी मुसीबतों में से बचा लेगी। इसलिए विचारकर बोलें। कुटुंबीजनों के साथ गलतफहमी न पैदा इसका ध्यान रखें। स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। शेयर-सट्टे की प्रवृत्तियों में पूंजी निवेश के लिए आयोजन होगा। गृहणियां मानसिक असंतोष की भावना अनुभव कर सकती हैं। विद्यार्थियों का अध्ययन में मन कम लगेगा।
राशिरत्न:-नीलम

कुंभ:-
शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थता और ताजगी बनी रहेगी। आर्थिक दृष्टि से आपका दिन लाभदायी रहेगा। सगे-संबंधियों तथा मित्रों के साथ सुरुचिपूर्ण भोजन का आनंद लेंगे। एकाध पर्यटन का भी आयोजन होगा। आज आप चिंतन शक्ति और आध्यात्मिक शक्ति के प्रभाव को जान सकेंगे। नकारात्मक, विचारों को दूर रखने से लाभ होगा।
राशिरत्न:-नीलम

मीन:-
आज आप एकाग्रता का अनुभव होगा। अपने कामों को सही तरीके से करने की प्लानिंग कर सकते हैं। धार्मिक कार्यों के पीछे खर्च होगा। कचहरी के कामों में अत्यधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। वाणी पर संयम रख फालतू के झगड़ों से बच सकते हैं। अल्पकालीन लाभ लेने का लालच भारी पड़ सकता है।
राशिरत्न:-पुखराज

।।आज के दिन का विशेष महत्व।।
1 आज वर्षाऋतु आषाढ़ माह कृष्णपक्ष सप्तमी तिथि दिन गुरुवार है।

।।प्रेरणा दाई दोहा ।।
गौतम नारि श्राप बस उपल देह धरि धीर।
चरन कमल रज चाहति कृपा करहु रघुबीर।।

अर्थ:-गोस्वामी तुलसीदास जी वर्णन करते हैं कि महामुनि विश्वामित्र जी श्री रामभद्र को बताते हैं कि हे राम ये गौतम की नारी अहिल्या है जो श्रापवशात उपल(पत्थर)देह प्राप्त कर चुकी है। हे राम अब तुम कृपा कर चरणों की रज प्रदान कर इन्हें श्राप मुक्त करो।

।।इति शुभम्।।

।।आचार्य स्वमी विवेकानन्द।।
।।ज्योतिर्विद व संगीतमय श्रीरामकथा श्रीमद्भागवत कथा व्यास।।
।।श्रीअयोध्या धाम।।
संपर्क सूत्र-9044741252

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मात्र 11 दिनों में कुबेर देव के ये चमत्कारी मंत्र आपको बना देगे धनवान

वर्तमान समय की बात करें तो हर एक