आज ही घर के मुख्य दरवाज़े पर बना दें ये निशान, बुरी शक्तियां चाह कर भी नहीं कर पाएंगी घर में प्रवेश!

- in धर्म

किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले हिन्दू धर्म में पूजा-पाठ का बहुत ही महत्व बताया गया है. पूजा पाठ होने के बाद पंडित जी यजमान के माथे पर तिलक और हाथ में कलावा भी बंधते हैं. बता दें कि हिन्दू धर्म में कलाई पर कलावा बंधने की रीत वर्षों पहले से चली आ रही है. जानकारी के लिए बता दें कि न्यायप्रिय, दानवीर, युद्धवीर महाराजा बलि को अमृत्व प्राप्ति के लिए विष्णु के अवतार भगवान बामन ने उन्हें कलावा रक्षा कवच के रूप में हाथ में बाँधा था. इसी प्रकार जब भी हिंदू धर्म के लोगों के यहां पूजा-पाठ होती है तो हाथ में कलावा बांधने का महत्व होता है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वास्तु शास्त्र या वस्तु विज्ञान में सकारात्मक एवं नकारात्मक विचारों का भी काफी महत्व होता है. किसी भी इंसान के घर में नकारात्मक ऊर्जा अगर प्रवेश कर जाती है तो उस व्यक्ति के घर दुःख और बीमारियों से भरा रहता है. इसके लक्षण बता दें जब भी आप किसी नए घर या अंजान घर में अपने बच्चे को लेकर जाते हैं तो आपका बच्चा रोना शुरू कर देता है. तो ऐसे में आपको तुरंत समझ जाना चाहिए कि उस घर में नकारात्मक शक्तियों का साया है.

जिंदगी बन सकती है नरक अगर पुरुष-स्त्री करते हैं ये काम

आज हम आपको नकारात्मक शक्तियों से बचने के उपाय बताने जा रहे हैं जिन्हें करने के बाद आप भी इन तरह की समस्या से बच सकते हैं. बता दें नकारात्मक शक्तियों के प्रवेश के लिए सबसे मुख्य होता है, घर का प्रवेश द्वार. अगर आप भी घर के मुख्य द्वार पर बस ये 1 उपाय कर लेंगे तो आपके घर में भी खुशियाँ बनी रहेगी. अगर आपको लगे कि आपके घर या ऑफिस में किसी बुरी आत्मा का साया है तो घर या ऑफिस के मुख्य द्वार पर ॐ या स्वास्तिक चिह्न बना दें. या फिर बाजार से जाकर इनके स्टीकर ले आयें और मुख्य द्वार पर लगा दें. इन दोनों चिन्हों को वास्तु विज्ञान में काफी पवित्र माना गया है. ऐसा करने से आपके घर में नकारात्मक शक्तियाँ प्रवेश नहीं करेंगी और आपके यहां खुशियाँ बनी रहेगी.

 
 

You may also like

हाथों की ऐसी लकीरों वाले लोग बिना संघर्ष के बनतें है अमीर

हर एक व्यक्ति की हथेली पर बहुत सी