एक ही गांव में तीन बाल विवाह, दूल्हे भी नाबालिग निकले

- in अपराध
नाबालिग दुल्हनें और नाबालिग ही दूल्हे…। परिणय सूत्र में बंधे ऐसे ही तीन जोड़ों को चाइल्ड लाइन ने अलग करवा दिया। हालांकि, एक मामले में लड़के की उम्र 22 साल है। लेकिन, लड़की नाबालिग होने की वजह से जोड़ा अलग कर दिया गया। अन्य दो मामलों में संस्था ने शादी के दो और तीन माह के बाद शादी की रस्मों को अवैध करार दे दिया। 

 

जनपद सिरमौर के गिरिपार इलाके में सात फेरों के बंधन में बंधी तीन नाबालिग दुल्हनों को शनिवार को अपने नए परिवार से अलग किया गया। दरअसल, चाइल्ड लाइन सिरमौर को नाबालिग लड़कियों की शादी की भनक लगी थी। सूचना मिलने के बाद चाइल्ड लाइन सिरमौर की टीम ने भी शिलाई तहसील की झकांडो पंचायत के बड़धार व जामना पंचायत के प्रभार गांवों में दबिश दी।

युवती से शारीरिक संबंध बनाकर युवक फरार

इस दौरान पता चला कि शिलाई के कोटीबौंच पंचायत के झीर गांव की तीन नाबालिग लड़कियों की झकांडो पंचायत में शादी हुई है। बड़धार गांव में भेजी गई दो नाबालिग लड़कियों की दो और तीन माह पहले शादी हुई थी। हैरानी की बात यह है कि नाबालिग लड़कियों से शादी रचाने वाले दोनों दूल्हे भी नाबालिग मिले।

You may also like

तो इसलिए पति ने पत्नी से कह दी अपने पिता से संबंध बनाने की बात, सुनकर आ जाएंगे आंखों में आंसू

महिला का कहना है कि ससुर के साथ