भाभी को सबक सिखाने के लिए बनाया ये खौफनाक प्लान

फिरोजाबाद के टूंडला में सिंघी के गांव घुरकुआ में बालिका की हत्या उसके ही सगे चाचा ने गला दबाकर कर दी। चाचा की गिरफ्तारी होने के बाद उसने खुलासा किया। 

 

भाभी को सबक सिखाने के लिए बनाया ये खौफनाक प्लानबालिका की हत्या करने के पीछे उसका मकसद अपनी भाभी को सबक सिखाना था। हत्या के बाद बालिका का शव चाचा ने खुद गड्ढे में छिपाया था। थाना पुलिस ने आरोपी अनिल को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। 

एसपी सिटी राजेश कुमार सिंह ने पत्रकारों से वार्ता के दौरान बताया नगला सिंघी के गांव घुरकुआ में छह वर्षीय बालिका अंजलि उर्फ अंजू पुत्री चंदन कुमार 15 फरवरी शाम गायब होने के बाद उसका शव जंगल में टीले पर मिला था। 

थाना पुलिस ने बालिका के शव का तो पैनल के माध्यम से पोस्टमार्टम कराया उसमें गला दबाकर हत्या की बात सामने आई। पुलिस ने आरोपी अनिल कुमार को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो हत्याकांड की गुत्थी सुलझती चली गई। 

आरोपी अनिल ने पुलिस को बताया उसकी पत्नी मालादेवी एवं चंदन की पत्नी चांदनी सगी बहनें हैं। अनिल के पास एक बेटा व बेटी है। लेकिन अनिल टीबी रोग से ग्रसित हो जाने के कारण उसकी पत्नी मालादेवी पिछले छह माह से मायके में रह रही है। 

अनिल ने पत्नी को बुलाने के लिए काफी प्रयास किया। पंचायत हुई दो बार में 25 हजार रुपया खर्च हो गया।लेकिन वह आने को तैयार नहीं हुई। भाभी चांदनी से बुलाने को कहा था लेकिन वह नहीं आई। 

गला दबाकर की हत्या

उसने भाभी को सबक सिखाने के लिए ही भतीजी अंजलि को घुमाने को ले जाने के बहाने ले गया। जंगल में टीले पर जाकर पहले उसे टीले से नींचे फेंका। 

बालिका रोई तो उसने हाथों से ही मुंह और गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद गड्ढे में दबाने के ही बाद घर वापस आ गया। पुलिस ने हत्यारोपी को जेल भेजा है।

परिजनों के साथ खुद खोजबीन में जुटा रहा परिवारीजनों को भतीजी की हत्या किए जाने का शक नहीं होने पाए इसके कारण अनिल कुमार भाई चंदन के साथ ही खुद खोजबीन करने में जुटा रहा। 

रात्रि को ढाई बजे तक ही ग्रामीण खोजते रहे। सुबह करीब छह बजे ऊंचे टीले पर ही जाकर अनिल ने ही बताया कि यहां शव हो सकता है। इस दौरान शव निकाला। भतीजी की हत्या का अनिल को अफसोस वह रात्रिभर नहीं सोया था। 

 
 

You may also like

बटुक भैरव देवालय में भादों का मेला 23 सितम्बर को

 अभिषेक के बाद होगा दर्शन का सिलसिला, नए