गर्मियों में कच्चा प्याज खाने के ये जबरदस्त फायदे, जानकर आपके उड़ जाएंगे होश

- in हेल्थ

खाने में प्याज का इस्तेमाल तो घर हो या रेस्टोरेंट में किया ही जाता है। लेकिन इसके ऐसे फायदे जानकर आप इसे रोज खाए बिना रह नहीं पाएंगे।गर्मियों में कच्चा प्याज खाने के ये जबरदस्त फायदे, जानकर आपके उड़ जाएंगे होश

दून की डायटीशियन ऋचा ने बताया कि, गर्मियों में लू चलती है, ऐसे मे इससे बचने के लिए आपको प्याज का प्रयोग जरूर करना चाहिए। तेज धूप में प्याज लू लगने से बचाता है। इसका रस पीने से और तलवों में मालिश करने से भी बहुत फायदा होता है।

कच्चे प्याज के इस्तेमाल से बाल लंबे होते हैं। आप प्याज के रस को स्कैल्प में लगाएं और एक घंटे बाद हल्के गर्म पानी से बालों को धो लें। प्याज में कई ऐसे तत्व भी होते हैं तो हमें कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से बचाते हैं। साथ ही त्वचा रोग संबन्धी भी परेशानियों को दूर करते हैं।

ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए प्याज वरदान होती होती है। इससे बीपी नियंत्रण में रहता है। इसलिए खाने के साथ कच्चा प्याज जरूर खाएं। कच्चा प्याज खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। प्याज का प्रयोग पुरुषों में यौन क्षमता को भी बढ़ाता है।

गठिया बाय के दर्द से परेशान लोगों को भी प्याज काफी फायदा देता है। सरसों के तेल में प्याज का रस मिलाकर दर्द वाली जगह मालिश करें। ध्यान रहे एक दिन में यह उपचार फायदा नहीं करता है। इसका प्रयोग आपको एक महीने तक लगातार मालिश करके करना होगा। इससे आपको दर्द में काफी फायदा मिलेगा।

जो लोग पथरी की समस्या से जूझ रहे हैं उन्हें प्याज का इस्तेमाल करना चाहिए। खराब खानपान की वजह से गुर्दे में पथरी की समस्या हो जाती है। प्याज के रस में पथरी के दर्द से लड़ने की क्षमता होती है। रोजाना खाली पेट, प्याज के रस का सेवन करने से पथरी का दर्द समाप्त हो जाता है।
बालों के झड़ने की समस्या भी आम है। लेकिन इसका इलाज आपके घर में ही मौजूद है। बालों को झड़ने से रोकने के लिए प्याज बहुत लाभकारी है।

कच्चे प्याज को काटकर उसे सिर पर रगड़ने से बालों का झड़ना बंद हो जाता है। इतना ही नहीं आपके सिर में नए बाल भी उगना शुरू हो जाएंगे।
आपको बता दें कि, प्याज में फास्फोरिक एसिड होता है। यह हमारे खून के लिए ब्लड प्यूरीफायर का काम करता है। आपको आपको नसों में दर्द की समस्या है तो आप इसके रस को अपने दर्द वाले स्थान पर रात को लगाकर मालिश करें और सो जाएं। ऐसा लगातार एक महीना करने से आपकी यह समस्या दूर हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

महिलाओं में पुरुषों से 5 फीसदी ज्यादा किडनी संबंधी रोगों का खतरा

किडनी (गुर्दा) से संबंधित रोग, पूरे विश्व में