मीठा खाने से नहीं, इन चीजों के इस्तेमाल से होता है डायबिटीज, जान लें इसे

आजकल के इस भागदौड़ भरे युग में अनियमित जीवनशैली के चलते जो बीमारी सर्वाधिक लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रही है वह है मधुमेह. मधुमेह यानी डायबिटीज को धीमी मौत भी कहा जाता है. यह ऐसी बीमारी है जो एक बार किसी के शरीर को पकड़ ले तो उसे फिर जीवन भर छोड़ती नहीं.डायबिटीज

इस बीमारी सबसे बुरा पक्ष यह है कि यह शरीर में अन्य कई बीमारियों को भी निमंत्रण देती है. मधुमेह रोगियों को आंखों में दिक्कत, किडनी और लीवर की बीमारी और पैरों में दिक्कत होना आम है. पहले यह बीमारी चालीस की उम्र के बाद ही होती थी. लेकिन आजकल बच्चों में भी इसका मिलना चिंता का एक बड़ा कारण बन गया है. दरअसल आज हम आपको डायबीटीज से जुड़ी कुछ बातें बताने वाले हैं, जिनके बारे में हमारी सोच अलग है. आज हम आपको डायबीटीज के उन मिथकों के बारे में बताएंगे जिनका सच से कोई लेना-देना नहीं है.

डायबिटीज से जुड़े मिथक

इस लिस्ट में सबसे पहला मिथक है मीठा खाने से डायबीटीज का होना. अगर आप भी यही सोचते हैं तो आपकी सोच गलत है. जी हां, यह बात सौ टका सच है. मीठा खाने से कभी भी डायबीटीज नहीं होती. डायबीटीज होने की पीछे वंशानुगत और दूसरे कारण जिम्मेदार होते हैं. मगर यह बात सच है कि डायबीटीज के मरीज की मीठा खाने से शुगर अनियंत्रित हो जाती है.

 

 

Facebook Comments

You may also like

इस राशि के मर्द अपनी बीवी को रखते है एक दम महारानी की तरह

लडकी का सपना होता है कि एक दिन