पुणे में भिखारियों का फ्री में इलाज करने वाले डॉक्टर सोनवने ने कहा, ये मेरा समाज को वापस देने का तरीका है. इन लोगों का इलाज करते मैंने इन लोगों से एक रिश्ता बना लेता हूं और इसके बाद उन्हें और काम करने और भीख छोड़ने के सहमत करवा लेता हूं. मैं उन्हें सभी तरह की मदद का भरोसा देता हूं.