Home > राज्य > दिल्ली > इन बाबाओं की करतूतें कर देंगी शर्मसार, हवस इतनी कि शिष्याओं को भी नहीं छोड़ा

इन बाबाओं की करतूतें कर देंगी शर्मसार, हवस इतनी कि शिष्याओं को भी नहीं छोड़ा

हवस, रंगीनियां, बेशर्मी, चोरी, रेप और शोषण वो शब्द हैं जिससे किसी साधू-संत-बाबा-संन्यासी का दूर-दूर तक लेना देना नहीं हो सकता, लेकिन बीते कुछ समय से ऐसे नामी बाबाओं का भंडाफोड़ हो रहा है जो हवस अय्याशियों में इस कदर डूबे कि उनकी करतूतें देख विश्वास की डोर टूटने लगी है। इनमें हाल में जो सबसे नया नाम जुड़ा है वो बाबा नब्बे भगत का है। अगली स्लाइड में पढ़िए किस तरह इस बाबा पर बीमार बच्ची के शोषण का आरोप लगा।

बाबा नब्बे भगत- दक्षिण दिल्ली में पिछले दस साल से आश्रम चला रहे एक ढोंगी बाबा को दिल्ली पुलिस ने बच्ची से छेड़छाड़ के  आरोप में गिरफ्तार किया है। इस बाबा पर आरोप है कि उसने एक बीमार बच्ची को आशीर्वाद देने के बाबा अपनी गोद में बैठाया और उसे गलत तरीके से छूता रहा। यही नहीं जब पीड़िता की मां ने कहा कि वह पुलिस में शिकायत करेगी तो आरोपी ने उसे अंजाम भुगतने की धमकी दे डाली जिसकी वजह से पीड़िता की मां को अपने परिवार को लेकर हरियाणा जाना पड़ा।

जलेबी बाबा- कथित धर्मगुरु जलेबी बाबा इस समय पुलिस की गिरफ्त में है। हरियाणा के टोहना में धर्म के नाम पर लोगों को बेवकूफ बनानेवाले इस बाबा पर 90 से ज्यादा महिलाओं का रेप करने का आरोप है। उसके आश्रम से 120 अश्लील सीडियां भी बरादम हुईं।

वीरेंद्र देव दीक्षित- दिल्ली के रोहिणी के विजयविहार इलाके में अध्यात्मिक विश्वविद्यालय के नाम पर आश्रम चलाने वाले इस ढोंगी बाबा ने खुद का कलयुग का कृष्ण घोषित कर रखा था। इस वहशी बाबा ने 16000 महिलाओं के साथ संबंध बनाने का लक्ष्य रखा, लेकिन इसी की एक अनुयायी महिला को जब अपनी 4 बेटियों के साथ बाबा की घिनौनी करतूत का पता चला। तो उसने भी वहशी बाबा की पोल खोलने की ठान ली। वीरेंद्र देव पर अब तक अलग-अलग थानों में रेप समेत 10 से ज्यादा एफआईआर दर्ज हो चुकी है।

राम रहीम- अब बात उस बाबा की जिसकी काली करतूतों से दुनिया वाकिफ है। राम रहीम को दो साध्वियों के साथ रेप करने के आरोप में 20 साल की सजा सुनाई गई है। भक्तों के सामने अपनी अलग छवि रख पर्दे के पीछे अपराधों को अंजाम देने वाले रामरहीम पर भक्तों को नपुंसक बनाने का भी आरोप है। इसके अलावा उनपर पत्रकार की हत्या करने का भी मामला दर्ज है। भारत में ऐसे ढोगी बाबाओं से लोगों को बचाने के लिए पुलिस और कई समाजसेवी संस्थाए काम कर रही है। लेकिन जरुरत है तो लोगों को आंखें खुली रख सच-फरेब में फर्क समझने की।

दाती महाराज- शनिधाम के संस्थापक दाती महाराज पर भी उनकी एक 25 वर्षीय शिष्या ने आरोप लगाया था कि बाबा और उनके अन्य सहयोगियों ने दिल्ली और राजस्थान के पाली स्थित आश्रम में बलात्कार किया वो भी एक नहीं कई बार। जांच हुई तो दाती महाराज के दोनों आश्रमों में कई गड़बड़ियां पाई गईं। हालांकि इस मामले में अब तक दिल्ली पुलिस दाती महाराज को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

रामपाल- हरियाणा के ही कथित धर्मगुरु बाबा रामपाल पर भी समर्थकों द्वारा हिंसा फैलाने और कोर्ट की अवमानना के केस हैं। उनपर अपने चेलों के साथ महिलाओं को कैद कर उनका यौन शोषण करने का आरोप लग चुका है। रामपाल पहले इंजीनियर थे, बाद में संत बन गए। उनके आश्रम से पुलिस को यौन शक्ति बढ़ाने वाली दवाइयां, कंडोम के ढेरों पैकेट्स और अन्य शक्तिवर्धक दवाएं मिली थीं।

आसाराम बापू- नाबालिग से रेप के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद आसाराम बापू फिलहाल राजस्थान की जोधपुर जेल में बंद हैं। एक जमाने में आसाराम के अंध भक्तों की भरमार थी। आसाराम पर अपने आश्रम में बच्चियों से यौन शोषण और कई महिलाओं के साथ रेप के आरोप हैं। इसके अलावा उनपर तंत्र मंत्र और बलि देने के नाम पर बच्चों की हत्या, नाबालिग लड़कियों से रेप और जमीन हड़पने के आरोप भी हैं। आसाराम के बेटे नारायण साईं पर भी रेप के आरोप लग चुके हैं।

भीमानंद- चित्रकूट के चमरौहा गांव के रहने वाले भीमानंद महाराज पर भी सेक्स रैकेट चलाने का आरोप लगा था। 1997 में दिल्ली के लाजपत नगर से गिरफ्तार हुए भीमानंद ने जेल से छूटने के बाद खुद को साईं बाबा का अवतार घोषित कर दिया था। बाबा बनने के बाद 12 साल के अंदर स्वामी भीमानंद महाराज ने करोड़ों की संपत्ति खड़ी कर ली है।

महंत सुंदर दास- ऐसे ही घिनौने बाबाओं की लिस्ट में एक नाम तब सामने आया जब जोधपुर के हाई प्रोफाइल बाबा महंत सुंदर दास महाराज पर उन्हीं की एक पूर्व साध्वी ने बलात्कार का आरोप लगाया। लड़की का कहना था कि बाबा अपने कमरे में किसी न किसी बहाने से बुलाता और फिर वो करता जो बताया नहीं जा सकता। आरोप लगाने वाली शिष्या की शिकायत पर दिल्ली के सब्जी मंडी थाने में बाबा के खिलाफ केस भी दर्ज हो गया।

बाबा सच्चिदानंद- राजधानी दिल्ली ही नहीं उत्तरप्रदेश में भी बाबाओं का सत्संग के नाम पर यौन शोषण का खेल चला। जिसका साल 2017 के अंत से पहले ही अंत हो गया। ये खुलासा था यूपी के बस्ती के बलात्कारी बाबा का। बाबा सच्चिदानंद का खुलासा तब हुआ जब बाबा के आश्रम की चार शिष्या वहां से भागने में कायमाब रहीं। चार साध्वियों के साथ बलात्कार करने का मामला सामने आया है।

बाबा कौशलेंद्र उर्फ फलाहारी बाबा- धर्म के इस ठेकेदार यानी बाबा कौशलेंद्र उर्फ फलाहारी बाबा पर भी शिष्या से रेप का आरोप लगा। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की रहने वाली युवती इसे अपना गुरु मानती थी। जिसे फलाहारी बाबा ने पहले प्रसाद में नशीला पदार्थ मिलाकर धोखे से खिलाया। फिर उसका रेप किया। सुबह होने पर युवती ने हिम्मत दिखाई और सुबह पुलिस के पास जाकर बाबा के खिलाफ रेप का केस दर्ज करवाया।

Loading...

Check Also

केंद्र सरकार पर जमकर बरसे प्रवीण तोगड़िया, बोले-'संतों की उपेक्षा कर रही भाजपा सरकार'

केंद्र सरकार पर जमकर बरसे प्रवीण तोगड़िया, बोले-‘संतों की उपेक्षा कर रही भाजपा सरकार’

गाजियाबाद के शिवशक्तिधाम डासना मंदिर में कठोर जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग को लेकर 19 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com