ये हैं भारत के 9 करोड़पति भिखारी, जयजात जानकर उड़ जायेंगे होस

- in ज़रा-हटके

भारत एक विकासशील देश है और अभी भी लगभग 40 प्रतिशत जनता गरीबी रेखा से नीचे है, और ना जाने कैसे अपना गुजारा करती है। देश के हर चैराहें रोड पर आपको भीख मांगते कई भिखारी नजर आते है, जिन्हें आप शायद रोज 1-2 रूपए देते है। लेकिन जरा सोचिए, कि आप जिस भिखारी को सिक्कों की भीख देते हैं, वह दरअसल एक करोड़पति निकलें तो !! आपके चेहरे का भाव निश्चित तौर पर देखने लायक होगा। लेकिन यह सत्य है, आज हम आपको जिन भिखारियों से मिलवाने जा रहे है, वे दरअसल भारत के सबसे अमीर भिखारियों में से एक हैं। वे सुविधा-सम्पन्न हैं। उनके बच्चे कॉन्वेन्ट स्कूलों में पढ़ते हैं। उनके पास खुद का बिजनेस है, दुकानें हैं और बैंक बैलेन्स करोड़ों में है। इसके बावजूद भीख मांगना इनका पेशा है।

ये हैं भारत के 9 करोड़पति भिखारी, जयजात जानकर उड़ जायेंगे होस

भरत जैन

भरत जैन बहुत ही शानदार इंग्लिश बोलै करते हैं और वह हर रोज मुंबई में परेल के पास 10 से 12 घण्टे भीख मांगते हैं ।बता दे की इनके खुद के पास खुद के 70-70 लाख के दो फ्लैट हैंस और तो और भरत भांडुप इलाके में एक जूस की दुकान के मालिक हैं। इसी जगह पर इनकी एक और दुकान है। जिससे इनको 10 हजार रुपए महीने का किराया मिलता है।

पप्पू कुमार

ये भाईसाब पटना के हैं और चौकाने वाली बात तो ये हैं की इनके बैंक अकाउंट में 1 करोड़ से भी ज्यादा बैलेंस हैं और फिर सड़क पर लोगो से ये केह कर भीख मांगते हैं की क्कुह पैसे दे दो काफी दिनों से खाना नहीं खाया हैं और बता दे की ये जनाब अपने बेटे को इंग्लिश मिडयम स्कूल में पडाते हैं ।

मासु

यह साहब फिल्म स्टूडियो में कपड़े बदल कर ऑटो से भीख मांगने वाली जगह पर पहुंचते हैं। मासु भी मुंबई के परेल से ताल्लुक रखते हैं। वहां उनका खुद का 1 कमरे का फ्लैट है। साथ ही 30 लाख रुपए की अन्य संपत्ति के साथ लगभग 30 लाख तक की संपत्ति है। परिवार वालों के समझाने के बाद भी ये अपने फैशनेबल तरीके से भीख मांगना नही छोड़ते।

बहुत जोर से आ रहा है डांस लेकिन बाहर नहीं निकल पा रहा, तोड़-फोड़ वीडियो…!

संभाजी काले
संभाजी भिखारी मुंबई के स्लम क्षेत्र विरार से आते हैं। इनकी रोज़ाना आमदनी 1500 रुपए है। इसके इलावा इनके पास खुद के 2 घर और इतने ही प्लॉट है। और तो और इन्होने बैंकों में भी निवेश कर रखा है।

हाजी
हाज़ी मुंबई से है इनकी रोज़ाना की आमदनी 2 हजार रुपए है। त्योहारों के वक़्त इनकी आमदनी बढ़ जाती है। इनके पास खुद का घर है और साथ में ही लगभग 15 लाख तक के प्लाट्स। इसके अलावा हाज़ी का खुद का जरी का कारखाना है, जहां 15 लोग काम करते हैं। अपने परिवार के समझाने के बाद भी ये भीख माँगना नही छोड़ते। हाज़ी कहते हैं की एक ठीक-ठाक आमदनी शुरू होने पर वह अकेले रहने लगेंगे।

रामबाई
आप की जानकारी के लिए बता देखी रामबाई खम्मम की रहने वाली हैं और वह यहाँ काफी ज्यादा फेमस हैं ।हालाँकि इन्होने अभी तक अपनी संपत्ति के बारे में खुल कर बात नहीं की हैं लेकिन जब भी इनकी सम्पति का पिटारा खुलेगा सब के होश उड़ जायेंगे ।

लक्ष्मी दास

इनको सबसे बुजुर्ग बिखरी की गिनती में गिना जाता हैं लक्ष्मी 1964 में 16 साल की उम्र से भीख मांग रही है। लक्ष्मी दास को पोलियो है और इन्होने भीख मांग-मांग कर मोटा बैंक बैलेन्स बना लिया है। अभी हाल ही में उन्हें बैंक का क्रेडिट कार्ड मिला है। है न कमाल!

सार्वितीया देवी

इनसे मिलिए, ये हैं भारत की सबसे प्रसिद्ध महिला भिखारी सार्वितीया देवी. ये पटना में रहती है और सालाना 36 हजार रुपए एलआईसी प्रीमियम का भुगतान करती हैं।भीख से हुई आमदनी से ये अपनी बेटी की शादी कर चुकी हैं और इनके पास भी खुद का घर है।दिलचस्प बात तो यह है की ये सात तीर्थ स्थानों पर तो घूम चुकी हैं साथ ही विदेश यात्रा भी की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

OMG…इस अनोखे अस्पताल में भर्ती होते हैं जहरीले सांप

सारनी। ये है एक अनोखा अस्पताल। जहां इंसान