छात्र को बहला फुसला कर जंगल में ले गए वहशी, दरिंदगी के बाद उतार दिया मौत के घाट

मंसुखपुरा थाना क्षेत्र के एक गांव में मंगलवार की शाम दो युवकों ने एक बालक के साथ कुकर्म किया। बाद में घटना को छिपाने के उद्देश्य से उसकी गला रेतकर हत्या कर दी।

छात्र को बहला फुसला कर जंगल में ले गए वहशी, दरिंदगी के बाद उतार दिया मौत के घाटसूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। निशानदेही पर पुलिस ने शव को बरामद कर लिया है। आरोपी और पीड़ित परिवारों के बीच तनाव के मद्देनजर गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है।

मंसुखपुरा थाना क्षेत्र के एक गांव का 12 वर्षीय लड़का कक्षा 5 की पढ़ाई कर रहा था। मंगलवार की शाम करीब चार बजे वह अपने चचेरे भाई के साथ बकरी चराने के लिए बीहड़ में गया था।

वहां से शाम करीब छह बजे चचेरा भाई बकरियां लेकर घर लौट आया लेकिन वह नहीं लौटा। उसके पिता ने इसके बारे में जानकारी की तो चचेरे भाई बताया कि गांव के ही रामसिया पुत्र केदार और कुलदीप पुत्र शैतान सिंह उसे अपने साथ ले गए हैं।

पिता ने ग्रामीणों की मदद से बालक को बीहड़ में ढूंढने की कोशिश की लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। बाद में उन्होंने थाने में शिकायत की। पुलिस ने रामसिया से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सारी घटना बता दी।

रात करीब दो बजे पुलिस ने उसकी निशानदेही पर बीहड़ से शव को बरामद कर लिया। बुधवार की सुबह घटना की जानकारी होने पर थाने में भीड़ जमा हो गई।

पुलिस ने की कार्रवाई
मौके पर एसपी पूर्वी नित्यानन्द राय भी पहुंच गए। बालक के पिता की तहरीर पर पुलिस ने रामसिया, उसके पिता केदार और कुलदीप के खिलाफ हत्या व सुबूत मिटाने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

You may also like

बिहार बोर्ड के फर्जी अंकपत्र बनाने वाले गिरोह का हुआ भंडाफोड़

एसटीएफ ने बिहार संस्कृत बोर्ड और वेस्ट बंगाल