साँपों को पालने वाले इन्सान की मौत का हुआ खुलासा, सच्चाई जानकर उड़ गए सबके होश

इस पृथ्वी पर विविधता देखने को बहुत ज्यादा मिलती है। हमारे सौरमंडल में वैसे तो कई ग्रह हैं लेकिन इनमें से पृथ्वी ही एक ऐसा ग्रह है जहाँ जीवन संभव है। यहाँ जिव को पनपने के लिए सही पर्यावरण मिल पाता है। पृथ्वी पर करोड़ों सालो से जीवन है। इंसानों से पहले इस पृथ्वी पर बड़े-बड़े डायनासोर का राज हुआ करता था। उनके साथ ही कई अन्य खतरनाक जिव भी रहते थे। धीरे-धीरे वो खतनाक जानवर ख़त्म हो गए। फिर इंसानों का विकास हुआ।

इंसानों के विकास के बाद धीरे-धीरे इंसान इस पृथ्वी पर अपने हिसाब से बदलाव करता गया। एक समय आया कि इंसान ने इस पृथ्वी को इस तरह से बदल दिया कि जिन जीवों को पहले खतरनाक जिव कहा जाता था, आज वही जिव इंसानों से डरने लगे हैं। जानवरों को पालतू बनाने का काम सदियों से इंसान करता आ रहा है। सबसे पहले इंसानों ने कुत्ते को अपना पालतू बनाया। कुत्ता शिकार करने में मदद करता था, इस वजह से कुत्ते को अपना पालतू बनाया गया। बाद में धीरे-धीरे उन जानवरों को भी पालतू बनाया जाने लगा, जिनसे इंसानों को दूध और मांस मिलता था।

ऐसे जीवों को पालतू बनाने के पीछे कुछ समज में भी आता है। लेकिन आजकल लोग खतरनाक जीवों को भी अपना पालतू बना रहे हैं। इसके पीछे की वजह आज तक किसी के समझ में नहीं आई। सांप का नाम सुनते ही पुरे शरीर के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। वहीँ कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो जहरीले साँपों को अपना पालतू बनाने से नहीं हिचकते हैं। केवल यही नहीं लोग आजकल अजगर को अपना पालतू जीव बनाने में जरा भी नहीं हिचक रहे हैं। लेकिन किसी सांप को पलना कितना ख़तरनाक हो सकता है, ब्रिटेन की इस घटना को देखकर साफ़-साफ़ पता चलता है।

आपको बता दें ब्रिटेन में डैन ब्रैंडन नाम का एक व्यक्ति रहता था। उसे साँपों का बहुत ज्यादा शौक था। इसी वजह से उसने अपने घर में 10 ज़हरीले सांपो को पाल रखा था। इसी में से एक अजगर भी उसके पास था। पिछले साल अगस्त महीने में ब्रैंडन की रहस्यमयी तरीके से मौत हो गयी। किसी को समझ में नहीं आया कि आखिर ब्रैंडन की मौत कैसे हुई। मिली जानकारी के अनुसार ब्रिटेन के हैम्पशर के रहने वाले डैन के पास 10 साँपों में से एक अफ्रीकन रॉक पाइथन भी था। इसे ब्रैंडन बहुत ज्यादा चाहता था। ब्रैंडन ने इसका नाम टाइनी रखा था।

ब्रैंडन टाइनी को हर समय अपने शरीर पर लपेटकर यहाँ-वहां घुमा करता था। सबकुछ ठीक चल रहा था। लेकिन पिछले साल 25 अगस्त को ब्रैंडन को अपने कमरे में मृत पाया गया। जांच के दौरान पाया गया कि उसकी मौत गहरी चोट की वजह से हुई है। लेकिन साफ़-साफ़ यह नहीं पता चल सका कि मौत आखिर किस वजह से हुई है। ब्रैंडन की माँ ने बताया कि जिस दिन उसकी मौत हुई थी, वह घर पर ही थी। उन्होंने ब्रैंडन के कमरे से तेज आवाजें सुनी।

जब वह भागते हुए उसके कमरे में गयी तो देखा कि बेटा जमीन पर तड़प रहा है। धीरे-धीरे उसकी मौत हो गयी। जहाँ टाइनी को रखा जाता था, वह वहां पर नहीं थी। माँ ने बताया कि टाइनी ने ही ब्रैंडन को जकड़कर मार डाला। अक्सर अजगर के हमले से लोगों की मौत होती रहती है। लेकिन यह दुनिया का पहला ऐसा मामला है, जिसमें अजगर ने किसी व्यक्ति की इस तरह से जान ली है। सच में यह बहुत ही आश्चर्यजनक है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button