हरियाणा के नेता अभय चौटाला बोले- कोई लड़ लेना चुनाव, पढ़े लिखे की शर्त ही हटा देंगे

सिरसा। हरियाणा के नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा ने आम आदमी को पंचायत के चुनाव लड़ने से ही वंचित कर दिया है। इनेलो की सरकार बनने पर पढ़ी लिखी पंचायत का फैसला लिया गया उसे निरस्त कर देंगे। वे बरनाला रोड पर स्थित चौटाला हाउस में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

Loading...

 हरियाणा के नेता अभय चौटाला बोले- कोई लड़ लेना चुनाव, पढ़े लिखे की शर्त ही हटा देंगेउन्होंने कहा कि सरकार ने प्रदेशभर की पंचायतों को ऑनलाइन करने का निर्णय लिया है, जबकि वास्तविकता यह है कि गांवों में पर्याप्त बिजली की व्यवस्था ही नहीं है और न ही अधिकांश सरपंच व पंच कंप्यूटर में निपुण है जो कंप्यूटर के माध्यम से पंचायतों का कामकाज ऑनलाइन कर सके। उससे प्रदेशभर की सभी पंचायतों में भाजपा सरकार के प्रति रोष है और वे सड़कों पर आने को तैयार हैं।

अभय चौटाला ने कहा कि यदि पंचायतें इस विरोध में कोई आंदोलन आरंभ करेंगी तो उनकी पार्टी पूरी तरह से पंचायतों का समर्थन करेगी। नेता प्रतिपक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार में बैठे लोग घोटालों में शामिल हैं। एग्री समिट हो या कोई दूसरा कार्य सभी में धांधली की जा रही है। बड़े कार्यक्रमों के टेंट तक के टेंडर नहीं दिए जा रहे है। सभी घोटाले करने के लिए नए तरीके ढूंढ रहे है। कृषि मंत्री द्वारा अब तक किए कार्यक्रमों की भी आरटीआइ मांगी गई है।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि किसान पर मंडियों में मार पड़ रही है। हालात यह है कि निर्धारित चार हजार रुपये प्रति क्विंटल के बजाय 3200 रुपये बिक रही है। अभी तो सरसों पूरी तरह से बाजार में आई नहीं है, जब पूरी ताकत से फसल बाजार में आएगी तो कम प्रबंधों की वजह से सरकार के हाथ पांव फूल जाएंगे। एक ओर मुख्यमंत्री कहते हैं कि किसानों की सरसों का एक-एक दाना खरीदा जाएगा वहीं नए नियम बनाकर किसानों को प्रताड़ित भी किया जा रहा है कि एक दिन में किसान की 25 क्विंटल से अधिक सरसों नहीं खरीदी जाएगी।

Loading...
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com