बनारस की सुबह और अवध की शाम…मोदी ने कुछ ऐसे समझाया यूपी का महत्व

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार राज्य में निवेश और बेहतर कारोबार के इरादे से लखनऊ में इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को इस दो दिवसीय समिट का उद्घाटन किया. इस मौके पर उन्होंने अपने ही अंदाज में यूपी का महत्व उद्योगपतियों को समझाया.

बनारस की सुबह और अवध की शाम...मोदी ने कुछ ऐसे समझाया यूपी का महत्वमोदी ने कहा कि हमारे देश में पुरानी कहावत है कि देश में कोस कोस पर पानी बदले, चार कोस पर वाणी. यूपी में संसाधन और समृद्ध का इतना विस्तार है कि यहां पर सैकड़ों वर्षों से हर क्षेत्र की अपनी एक अलग पहचान है.

उन्होंने कहा, ‘लखनऊ में चिकन का काम मशहूर है, तो मलिहाबाद के आम पूरी दुनिया में एक्सपोर्ट होते हैं. भदोही की कालीन, बनारस की जरी और जरदोजी का काम और साड़ियां दुनिया भर में मशहूर हैं. मुरादाबाद में पीतल के बर्तन देश विदेश जाते हैं, तो फिरोजाबाद का कांच दुनिया भर में अपनी चमक बिखेरता है. यहां आगरा का पेठा है तो कन्नौज का इत्र भी है.

मोदी ने कहा, यहां सुबह ए बनारस है तो शाम ए अवध भी है. यहां ताजमहल, सारनाथ है, तो अयोध्या, मथुरा और काशी भी हैं.  यहां राम की लीला है तो कृष्ण का रास भी है. यहां गंगा, यमुना है तो सरयू जी का आशीर्वाद भी है. उन्होंने कहा कि यूपी में आईआईटी कानपुर, आईएएम लखनऊ तो बनारस हिंदू विश्वविद्यालय जैसे महान संस्थान भी हैं.

मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश का सिर्फ गौरवशाली इतिहास ही नहीं बल्कि वर्तमान भी है. उत्तर प्रदेश में टेक्सटाइल सेक्टर, टूरिज्म, कल्चर और एग्रीकल्चर की झलक है. यहां शक्ति भी है और भक्ति भी. यहां ऐसी समृद्धि और ताकत है, जिसके दम पर उत्तर प्रदेश पूर्वी भारत का नहीं बल्कि देश के विकास का इंजन बन सकता है.

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश आज अनाज, गेंहू, गन्ने, दूध और आलू के उत्पादन में पूरे देश में नंबर वन स्टेट है. सब्जियों के उत्पादन में दूसरे और फल उत्पादन में तीसरे नबंर पर है. इसके अलावा यूपी लघु उत्पादन मामले में दूसरे नंबर पर है.

loading...

You may also like

एलजी हाउस में दुबके बैठे हैं केजरीवाल, दें दिल्ली की जनता को पानी: केंद्रीय मंत्री विजय गोयल

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने भी माना