मायावती ने कहा- संयुक्त सचिव पद पर सीधी भर्ती मोदी सरकार की विफलता

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी ने केंद्र सरकार में संयुक्त सचिव पद पर सीधी भर्ती की कवायद को मोदी सरकार की विफलता बताया है। बसपा प्रमुख मायावती ने गोरखपुर मेडिकल कालेज के चर्चित डॉ. कफील के भाई पर हुए जानलेवा हमले की भर्त्सना करते हुए भाजपा पर निशाना साधा।मायावती ने कहा- संयुक्त सचिव पद पर सीधी भर्ती मोदी सरकार की विफलता

सोमवार को जारी बयान में मायावती ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार द्वारा दस महत्वपूर्ण विभागों में प्राइवेट सेक्टर के लोगों की सीधे संयुक्त सचिव पद पर नियुक्त करने का फैसला मोदी सरकार की खतरनाक प्रवृत्ति है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी प्रशासनिक विफलता छिपाने के लिए इस प्रकार के अवैधानिक कदम उठा रहे हैं।

जब केंद्र व राज्य सरकारों के पास निविदा के जरिये अनुभवी विशेषज्ञों को रखने की व्यवस्था है, तो फिर केंद्र में संयुक्त सचिव के पद पर बाहरी व्यक्ति को बिना यूपीएससी की स्वीकृति लिएबैठाना सरकारी व्यवस्था का मजाक उड़ाने जैसा है। इससे नीति निर्धारण में पूंजीपतियों और धन्नासेठों का प्रभाव बढऩे की आशंका है। इस गलत परम्परा की शुरुआत करना चिंता की बात है।

बसपा प्रमुख ने गोरखपुर मेडिकल कॉलेज के डॉ. कफील के भाई काशिफ जमील पर हुए जानलेवा हमले की कड़ी भत्र्सना करते हुए प्रदेश की बदहाल कानून व्यवस्था को लेकर योगी सरकार पर हमला बोला। इलाहाबाद में वकील रवि तिवारी की हत्या पर भी गहरी नाराजगी व्यक्त की। आरोप लगाया कि ये घटनाएं प्रदेश में बढ़ते जंगलराज का प्रमाण हैं।

मायावती ने योगी सरकार को जनसुरक्षा, जनहित व जनकल्याण पर विशेष ध्यान देने की सलाह भी दी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के मंत्रियों की बयानबाजी व जुमलेबाजी के कारण प्रदेश में अव्यवस्था, अराजकता और हिंसाराज व्याप्त है। प्रत्येक भाजपा कार्यकर्ता सइयां भये कोतवाल तो डर काहे का…जैसा हाल होने के कारण जनविरोधी आचरण कर रहे हैं। 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

प्रत्य़ाशियों की घोषणा से भाजपा कार्यकर्ताओं में उत्साह – कौशिक

रायपुर 21 अक्टूबर।छत्तीसगढ़ भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष