इस स्कूल के यूनिफॉर्म की कीमत है 49,320 रुपये, स्कूल को तैनात करने पड़े गार्ड्स

नई दिल्ली: आए दिन स्कूलों में बढ़ती फीस और अलग-अलग वजहों से ली जाने वाली भारी राशि को लेकर माता-पिता का विरोध सामने आता रहता है. इसे लेकर भारत के कई राज्य सरकारों ने कड़े नियम बना दिए हैं. लेकिन जापान का एक स्कूल ऐसा भी है, जहां के स्टूडेंट्स की एक यूनिफॉर्म की कीमत ही करीब 50 हजार रुपये है. अब हालात ऐसे हो गए हैं कि स्कूल को अपन छात्र-छात्राओं की सुरक्षा के लिए सुरक्षाकर्मी तक तैनात करने पड़ रहे हैं.

इस स्कूल के यूनिफॉर्म की कीमत है 49,320 रुपये, स्कूल को तैनात करने पड़े गार्ड्स

टोक्यो के प्रसिद्ध तेइमेई एलीमेन्ट्री स्कूल ने हाल ही में स्टूडेंट्स की यूनिफॉर्म में बदलाव लाने की सोचते हुए उसे लग्जरी ब्रांड अरमानी से डिजाइन करवाया था. अरमानी द्वारा बनाए जाने के कारण एक यूनिफॉर्म की कीमत ही 80,000 येन यानि करीब 50,000 रुपये है.

बदमाशों के निशाने पर आए बच्चे
मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो नई यूनिफॉर्म पहने बच्चे अब बदमाशों के निशाने पर आ गए हैं. पिछले कुछ दिनों में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जिनमें स्टूडेंट्स को रास्ते में पकड़ते हुए उनसे यूनिफॉर्म छीनने की कोशिश की गई. वहीं कुछ मामलों में स्कूल के बच्चों को राह चलते लोगों ने पकड़कर उनकी यूनिफॉर्म के बारे में पूछताछ करना शुरू कर दी. इन सब घटनाओं और अभिभावकों से शिकायत मिलने के बाद अब तेइमेई एलीमेन्ट्री स्कूल ने सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिए हैं. इन गार्ड्स की एक टीम स्कूल के आसपास के रास्तों पर भी जाती है ताकि स्टूडेंट्स किसी बदमाश का शिकार न बनें.

पाकिस्तान की पहली हिंदू महिला सीनेटर बनी कृष्णा कुमारी

यूनिफॉर्म को लेकर स्कूल की आलोचना
फरवरी 2018 में लागू की गई 80,000 येन की अरमानी द्वारा डिजाइन यूनिफॉर्म को लेकर स्कूल को चौतरफा आलोचना सहनी पड़ी थी. लोगों ने इस कदम को गलत ठहराते हुए बच्चों पर बुरा प्रभाव पड़ने की बात कही थी. हालांकि, स्कूल प्रशासन ने इस पर बयान दिया था कि ये यूनिफॉर्म सभी को खरीदना जरूरी नहीं है. स्कूल की इस सफाई पर शिक्षा जानकारों ने कहा था कि अरमानी यूनिफॉर्म पहनने वाले बच्चों को देख उसे नहीं खरीद पाने वाले स्टूडेंट्स में हीन भावना पैदा हो सकती है. इसे लेकर प्रभावित स्टूडेंट्स के माता-पिता को भी परेशानी उठानी पड़ेगी. बाद में स्कूल ने अरमानी डिजाइन्ड यूनिफॉर्म का सस्ता वर्जन लाने की बात भी कही थी. ताकि दूसरे बच्चे भी इसे खरीद सकें. लेकिन इस कदम से भी लोग खुश नहीं दिखे और वे अभी तक स्कूल के यूनिफॉर्म को लिए गए फैसले की आलोचना करते नजर आते हैं.

 

You may also like

पाक ने की वर्ल्ड बैंक से शिकायत, कहा सिंधु जल संधि का उल्लंघन कर रहा भारत

पाकिस्तान के संयुक्त राष्ट्र मिशन के एक बयान