बीजेपी विधायक ने उत्तर कर्नाटक को अलग राज्य बनाने की मांग का किया समर्थन, और फिर…

बेंगलुरू: कर्नाटक के मोलकालमोरू से बीजेपी विधायक बी श्रीरामुलू उत्तर कर्नाटक को अलग राज्य बनाने की मांग करने वालों का समर्थन करने के कुछ ही घंटों बाद अपने बयान से पलट गए और कहा कि उन्होंने राज्य के बंटवारे का कभी समर्थन नहीं किया. दरअसल, श्रीरामुलू ने इससे पहले संवाददाताओं से कहा था कि वह उत्तर कर्नाटक के लिए अलग राज्य की मांग करते हुए कुछ संगठनों द्वारा दो अगस्त को किए जाने वाले बंद के आह्वान का समर्थन करेंगे.

श्रीरामुलू ने कहा था, “यदि उत्तर कर्नाटक के साथ अन्याय किया गया तो हम चुप नहीं बैठेंगे. हम उत्तर कर्नाटक के विधायकों से चर्चा कर रहे हैं. बस इंतजार करिए और देखिए, हम आगे क्या करते हैं. अलग तेलंगाना की तरह यह आंदोलन भी एक बड़ी क्रांति होगा.”

बीजेपी विधायक ने कहा कि गठबंधन सरकार ने उत्तर कर्नाटक की अनदेखी की है. मुख्यमंत्री कुमारस्वामी पक्षपात की राजनीति कर रहे हैं. हालांकि, उनके रूख को बीजेपी द्वारा नामंजूर किए जाने के बाद श्रीरामुलू अपने बयान से पलट गए और कहा कि उनका कहने का मतलब था कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उत्तर कर्नाटक को अलग राज्य बनाने की मांग की जा रही है.

उधर, प्रदेश बीजेपी प्रमुख बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि इस तरह की मांग से कोई समाधान नहीं होगा. बीएस येदियुरप्पा ने कहा, “हमारा उद्देश्य राज्य का विकास करना था. हमने कई विकास कार्य शुरू किए थे लेकिन सत्ता न होने के कारण कुमारस्वामी आप और आपका परिवार राज्य को बर्बाद कर रहे हैं.”

उन्होंने आगे कहा, “मैं उत्तर कर्नाटक के लोगों से पृथक राज्य की मांग नहीं करने का अनुरोध करता हूं. हमें मिलकर काम करना होगा. राज्य का बंटवारा विकास का समाधान नहीं है.” पार्टी सांसद शोभा करंदलजे ने भी अलग राज्य की मांग खारिज कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अपराधियों के आगे नतमस्तक हुए सुशील मोदी, बोले- पितृ पक्ष में न करें अपराध

विनय कुमार, जय प्रकाश, गया: गया में पितृपक्ष मेले का उद्घाटन