आगरा में ताजमहल के लिए बनेगा 11 सदस्यीय एडवाइजरी बोर्ड

आगरा: ताज के परिवेश में पर्यावरण सुधार की बैठक में निर्णय लिया गया कि देशभर के महत्वपूर्ण स्मारकों के लिए एडवाइजरी बोर्ड बनाया जाएगा। ताज महल के लिए 11 सदस्यीय बोर्ड बनाया जाएगा। बोर्ड में समाजसेवी, चिकित्सक और पत्रकार भी शामिल होंगे। फतेहाबाद रोड स्थित होटल रेडिसन ब्ल्यू में ताज के परिवेश में पर्यावरण सुधार की बैठक में केंद्रीय संस्कृति, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री डा. महेश शर्मा ने कहा कि आज से चार से पांच दिन के बाद दिल्ली में बैठक होगी। जिसमें आगरा की बैठक में आये सुझावों पर मंथन किया जाएगा। दिल्ली में होने वाली बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पीएमओ, संस्कृति एवं पर्यावरण मंत्रालय के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।आगरा में ताजमहल के लिए बनेगा 11 सदस्यीय एडवाइजरी बोर्ड

इससे पूर्व बैठक में ताज महल के काले, हरे और पीले पड़ने जैसी बातों पर विराम लगाने के लिए ताज महल की कलर स्पेक्टोग्राफी करवाए जाने का निर्णय लिया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ताज महल के संगमरमर की स्टडी कराकर उसके वास्तविक कलर का पता लगाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इसके लिए सुप्रीम कोर्ट में रिपोर्ट पेश की जाएगी। ताकि ताज के पीले, हरे, काले पड़ने की बातों पर भी विराम लग सके। फतेहाबाद रोड स्थित होटल रेडिसन ब्ल्यू में ताज के परिवेश में पर्यावरण सुधार की बैठक चल रही है। बैठक में ताज के आसपास प्रदूषण व अन्य समस्याओं के निदान के लिए जनप्रतिनिधियों व स्टेकहोल्डर्स के साथ केंद्रीय मंत्री मंथन कर रहे हैं। इसके बाद वह अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

लंच के बाद ताज की विजिट होगी। दोपहर 3:30 बजे स्वच्छ पर्यावरण कार्यक्रम में शामिल होंगे।

रविवार को पूरी दुनिया को ताज महल से पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया जा रहा है। ताज महल के पा‌र्श्व में दशहरा घाट पर ‘स्वच्छ पर्यावरण’ कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री डा. महेश शर्मा और यूनाइटेड नेशंस इन्वायरमेंट प्रोग्राम (यूएनईपी) के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर एरिक सोल्हेम शामिल होंगे।

बता दें कि पांच जून को विश्वभर में पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। इसकी थीम इस बार ‘बीट प्लास्टिक पोल्यूशन’ रखी गई है। यूनाइटेड नेशंस इन्वायरमेंट प्रोग्राम (यूएनईपी) के इस कार्यक्रम का मेजबान इस बार भारत है। इसकी शुरुआत रविवार को आगरा में ताज के साये में दशहरा घाट पर हो रहे स्वच्छ पर्यावरण कार्यक्रम से हो रही है। कार्यक्रम से दुनिया को यह संदेश दिया जाना है कि भारत पर्यावरण संरक्षण को लेकर गंभीर है।

रविवार शाम को यहां यमुना में सफाई कर पर्यावरण को स्वच्छ रखने के अलावा ताज की 500 मीटर की परिधि को पॉलीथिन फ्री जोन और 2022 तक शहर को प्लास्टिक फ्री करने की घोषणा की जाएगी। शहर को प्लास्टिक फ्री बनाने के लिए एक ही बार प्रयोग में आने वाली प्लास्टिक के प्रयोग को धीरे-धीरे खत्म किया जाएगा। पानी की बोतल, गिलास आदि के विकल्प तैयार किए जाएंगे।

मर रहे हैं आगरा, ताज और उद्योग

बैठक में एससी आयोग के अध्यक्ष सांसद रामशंकर कठेरिया ने कहा कि टीटीजेड में लगी तदर्थ रोक को तत्काल हटाने की आवश्यकता है। सुप्रीम कोर्ट आदेश कर देता है तो अधिकारी सरेंडर कर देते हैं। इसे व्यवहारिक रूप से नहीं समझते। जिसके चलते आगरा, ताज और उद्योग मर रहे हैं। वहीं विधायक रामप्रताप सिंह ने कहा कि टीटीजेड के नाम पर आगरा के उद्योगों के साथ सौतेला व्यवहार हो रहा है। आगरा के नुकसान के लिए उन्होंने पर्यावरणविद् एमसी मेहता को जिम्मेदार बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर पैदल मार्च कर रहे कांग्रेसी आपस में भिड़े

कानपुर : डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की