..तो क्या सीट निम्बाहेड़ा से लड़ेंगे कृपलानी या फिर बदलेंगे सीट?

मेवाड़ का चित्तौड़गढ़ जिला राजस्थान के बड़-बड़े दिग्गजों की चुनावी रणभूमि रहा है. पू्र्व मुख्यमंत्री और उपराष्ट्रपति भैरोसिंह शेखावत, जसवंत सिंह, डॉ गिरिजा व्यास, नरपत सिंह राजवी और महाराणा महेंद्र सिंह मेवाड़ सरीखे कई दिग्गज इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हुए राजनीति के शिखर पर पहुंचे.

चित्तौड़गढ़ जिले की पांच विधानसभा-चित्तौड़गढ़, निम्बाहेड़ा, बड़ी सादड़ी, कपासन और बेगूं हैं. इन पांचों विधानसभा सीटों पर फिलहाल भारतीय जनता पार्टी का कब्जा है. निम्बाहेड़ा विधानसभा की बात करें तो इस सीट से बीजेपी के बड़े नेता, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के करीबी व नगरीय विकास मंत्री श्रीचंद कृपलानी विधायक हैं.

चित्तौड़गढ़ की निम्बाहेड़ा विधानसभा क्षेत्र संख्या 179 एक सामान्य सीट है. 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की कुल जनसंख्या 3,52,867 है जिसका 77.31 प्रतिशत हिस्सा ग्रामीण और 22.68 प्रतिशत हिस्सा शहरी है. वहीं कुल आबादी का 22.43 फीसदी अनुसूचित जनजाति और 14.37 फीसदी अनुसूचित जाती है.

2017 के वोटर लिस्ट के अनुसार निम्बाहेड़ा विधानसभा में कुल मतदाताओं की संख्या 2,34,493 है और 288 पोलिंग बूथ हैं. 2013 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर 86.4 फीसदी मतदान हुआ था जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में 68.79 फीसदी मतदान हुआ था.

2013 विधानसभा चुनाव का परिणाम

साल 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के पूर्व सांसद श्रीचंद कृपलानी ने कांग्रेस विधायक उदयलाल आंजना को 3370 मतों से पराजित किया. बीजेपी के श्रीचंद कृपलानी को 88833 वोट और कांग्रेस के उदयलाल आंजना को 85463 वोट मिले थे.

2008 विधानसभा चुनाव का परिणाम

साल 2008 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के उदयलाल आंजना ने बीजेपी विधायक अशोक कुमार नवलखा को 38510 वोटों से शिकस्त दी थी. कांग्रेस के उदयलाल आंजना को 95622 वोट और बीजेपी के अशोक कुमार नवलखा को 57112 वोट मिल थे.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button