कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमला, एक नागरिक की मौत

- in कश्मीर

दक्षिण कश्मीर के लाजीबल अनंतनाग में वीरवार को आतंकियों द्वारा सुरक्षाबलों पर घात लगाकर किए गए हमले में एक नागरिक शाकिब शब्बी जख्मी हो गया है। सुरक्षाबलों नेहमलावर आतंकियों को पकड़ने के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चलाया है। हालांकि बाद में अनंतनाग हमले में घायल नागरिक शाकिब शब्बीर ने अस्पताल में अपने जख्मों का ताव न सहते हुए दम तोड़ दिया है।

कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमला, एक नागरिक की मौत

आतंकी हमले में नेता की मौत, दो अंगरक्षक जख्मी

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में बुधवार को आतंकी हमले में वरिष्ठ राजनीतिक नेता गुलाम नबी (जीएन) पटेल की मौत हो गई, जबकि उनके दो अंगरक्षक गंभीर रूप से घायल हो गए। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए हमलावर आतंकियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान चलाया है। आतंकियों द्वारा घायल अंगरक्षकों के हथियार लूटे जाने की भी सूचना है, लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हुई है।जीएन पटले वर्ष 2002 में कांग्रेस के टिकट पर राजपोरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ चुके हैं।

बाद में वह सत्ताधारी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के साथ जुड़ गए थे और कुछ समय पहले उन्होंने पीडीपी से भी नाता तोड़ लिया था। बताया जा रहा है कि पटेल ने अब भाजपा का दामन थाम लिया था। डांगरपोरा-शादीमर्ग के रहने वाले गुलाम नबी पटेल यडर स्थित अपने गांव से पुलवामा जिला मुख्यालय की तरफ आ रहे थे। वह अपने निजी वाहन नंबर जेके01एम- 009 में सवार थे। उनके साथ उनके दो अंगरक्षक इम्तियाज अहमद जरगर और बिलाल अहमद मीर भी थे। जैसे ही वाहन पुलवामा के राजपोरा चौक में पहुंचा, वहां पहले से घात लगाए बैठे आतंकियों ने उनपर गोलियों की बौछार कर दी। पटेल के अंगरक्षकों ने भी गोली का जवाब देना चाहा, लेकिन वह भी आतंकियों की गोलियों का शिकार हो गए।

आतंकी पटेल व उनके अंगरक्षकों को मरा समझ वहां से फरार हो गए।गोलियों की आवाज सुनकर निकटवर्ती चौकी से पुलिस और सुरक्षाबलों के जवान तुरंत मौके पर पहुंचे। उन्होंने उसी समय घेराबंदी शुरू कर दी, लेकिन आतंकी भाग निकले थे। सुरक्षार्किमयों ने खून से लथपथ पड़े पटेल व उनके अंगरक्षकों को स्थानीय लोगों की मदद से निकटवर्ती अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने पटेल को मृत लाया घोषित कर दिया। दोनों घायल अंगरक्षकों की हालत भी चिंताजनक बताई जाती है। संबंधित पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घायल इम्तियाज अहमद के सीने में और बिलाल की टांगों में गोली लगी है। पोस्टमार्टम के बाद दिवंगत नेता का शव उसके परिजनों के हवाले कर दिया गया।

पुलिस कर्मियों के हथियार छीन आतंकी भागे

बड़गाम में गौरीपोरा क्षेत्र में बुधवार रात को आतंकी एक मंदिर की सुरक्षा में तैनात राज्य पुलिस के चार जवानों के हथियार छीन कर भाग गए। वहीं पुलिस प्रशासन ने चार पुलिस कर्मियों को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार रात साढ़े बारह बजे आतंकियों के एक दल ने अचानक मंदिर के बाहर सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों की पोस्ट पर हमला कर दिया।

आतंकियों ने सभी के हथियार छीन और वहां सामान लेकर भाग निकले। सभी जवान जम्मू-कश्मीर आ‌र्म्ड पुलिस के हैं। वहीं रात को वारदात की जानकारी मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। उन्होंने चारों पुलिस कर्मियों को हिरासत में ले लिया। इसके साथ पूरी वादी में अलर्ट घोषित कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

1 अक्टूबर से हाईकोर्ट व निचली अदालतों के समय में होगा बदलाव

जम्मू। हाईकोर्ट व निचली अदालतों का समय पहली अक्टूबर