तेज-ऐश्‍वर्या को लेकर राबड़ी पहुंची मंदिर, कहा- लक्ष्मी है मेरी बहू, भाग्यशाली है

पटना। लालू-राबड़ी के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी चंद्रिका राय की बेटी एेश्वर्या राय से शनिवार को संपन्न हो गई। घर में बहू के आने के बाद राबड़ी देवी बहुत खुश हैं। वे अपनी बहू  और बेटे तेजप्रताप के साथ सोमवार को बांके बिहारी मंदिर में भगवान की पूजा-अर्चना करने गईं। राबड़ी देवी ने बेटे और बहू से भगवान की विधिवत पूजा करवायी। शादी के बाद एेश्वर्या और तेजप्रताप पहली बार मंदिर में पूजा करने गए। ऐश्वर्या ने बांके बिहारी मंदिर में चुन्नी चढ़ाई और पूरे परिवार के लिए भगवान का आशीर्वाद मांगा।तेज-ऐश्‍वर्या को लेकर राबड़ी पहुंची मंदिर, कहा- लक्ष्मी है मेरी बहू, भाग्यशाली है

राबड़ी ने बहू के लिए कही ये बात 

राबड़ी देवी ने भी भगवान की पूजा कर अपने परिवार की उन्नति व सुख-समृद्धि की कामना की। इस मौके पर उन्होंने भगवान के प्रति विश्वास जताते हुए कहा कि भगवान जो करते हैं, ठीक करते हैं। जब हम कोई शुभ कार्य करते हैं, तो भगवान का नाम ले कर करते हैं और जब सब कुछ अच्छे से निबट जाता है, तो भगवान को धन्यवाद भी करते हैं। उन्होंने कहा कि शादी के दौरान भाईचारा बना रहा और सब कुछ शांतिपूर्वक संपन्न हो गया। इसके लिए उन्होंने सबको धन्यवाद दिया। 

नयी नवेली बहू के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मेरी बहू लक्ष्मी है। घर में सबकुछ खुशी-खुशी संपन्न हो गया। मेरे घर में बहू के पैर पड़ने के पहले से ही घर में खुशियों ने कदम रखना शुरू कर दिया।राबड़ी का इशारा उस ओर था कि लालू यादव को पेरोल पर शादी में आने का मौका मिला और शादी से ठीक पहले लालू यादव को प्रोविजिनल बेल भी मिल गई। अब वे रांची से बेल की न्यायिक प्रक्रिया पूरी करने के बाद अपना इलाज कराने बड़े अस्पताल में जा सकेंगे। वहीं, रांची हाइकोर्ट ने तेजस्वी यादव को कोर्ट के खिलाफ बयान देने के मामले में भी जमानत दे दी। 
लालू यादव ने भी तेजप्रताप की शादी से पहले अपनी बहू एेश्वर्या से फोन पर बात की थी और कहा था कि तुम बहुत भाग्यशाली हो, तुम्हारे आने से पहले ही सब ठीक हो रहा है। तुम्हारे कदम मेरे घर के लिए शुभ हैं।

सगाई में नहीं आ सके थे लालू 

इसके पहले तेजप्रताप यादव तथा ऐश्‍वर्या राय की सगाई 18 अप्रैल को पटना के एक होटल में हुई थी। समारोह में लालू यादव की कमी खली। यह पहला मौका थ जब लालू प्रसाद की अनुपस्थिति में परिवार में कोई मांगलिक आयोजन हो रहा था। उस समय चारा घोटाला के मामले में सजा काट रहे लालू प्रसाद दिल्ली के एम्स अस्पताल में इलाज करा रहे थे।पेरोल मिला तो शादी में आए
बेटे की सगाई के वक्‍त दिल्‍ली एम्‍स में इलाजरत थे। बाद में उन्‍हें पुन: वापस रिम्‍स ले जाया गया। इस बीच उनके बेटे की शादी में शामिल होने पर संशय बना हुआ रहा। लालू यादव ने बेटे की शादी में शामिल होने के लिए पेरोल की अर्जी दी। शादी में पटना जाने के लिए सरकार ने लालू प्रसाद यादव को तीन दिनों का पेरोल दिया, जिसकी अवधि सोमवार को समाप्‍त हो गई। लालू प्रसाद अब रांची के होटवार जेल में जाकर हाईकोर्ट से मिली जमानत की औपचारिकताओं को पूरा करेंगे।  

शादी से एक दिन पहले मिली जमानत

बेटे तेजप्रताप की शादी से ठीक एक दिन पहले रांची हाइकोर्ट में उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई हुई और कोर्ट ने उनके स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए इलाज के लिए छह सप्ताह का प्रोविजनल बेल दे दिया। लालू यादव की बेल पर राजद नेता रामचंद्र पूर्वे ने भी कहा था कि घर में नई बहू के आगमन से पहले शुभ संकेत दिख रहे हैं। तेजप्रताप की शादी के साथ ही सारी परेशानियां दूर हो जाएंगी। ऐश्वर्या के शुभ कदमों से परिवार पर आए विपत्ति के बादल छंट जाएंगे। 

सुसराल पहुंची ऐश्‍वर्या, राबड़ी ले गईं मंदिर 

शनिवार की रात शादी धूमधाम से संपन्‍न हो गई। इसके बाद माता-पिता ने ऐश्‍वर्या को डोली में बिठा कर पति के घर विदा किया। फिर राबड़ी देवी बेटे व बहू को लेकर मंदिर गईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

नवजोत सिद्धू की पॉलिसी दरकिनार कर बाजवा लाएंगे ये नई पॉलिसी

लुधियाना। स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की