तेजप्रताप ने नीतीश पर किया तीखा वार, कहा- घर के बाहर लगाऊंगा नीतीश चाचा नो एंट्री बोर्ड

- in बिहार, राजनीति
राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि वह अपने घर के बाहर एक बोर्ड लगाएंगे। जिस पर लिखा होगा ‘नो एंट्री फॉर नीतीश चाचा’। तेजप्रताप के मुताबिक यह बोर्ड उनके 10, सर्कुलर रोड स्थित बंगले में लगाया जाएगा। बता दें कि इस बंगले में लालू का पूरा परिवार रहता है और यह बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और लालू की पत्नी राबड़ी देवी के नाम पर आवंटित है।तेजप्रताप ने नीतीश पर किया तीखा वार, कहा- घर के बाहर लगाऊंगा नीतीश चाचा नो एंट्री बोर्ड

तेजप्रताप ने कहा कि नीतीश राष्ट्रीय लोकतांत्रिक दल (एनडीए) में असहज महसूस कर रहे हैं और कांग्रेस के कुछ नेता चाहते हैं कि वह बिहार के महागठबंधन में वापसी करें। उन्होंने कहा कि जब हम उनकी (नीतीश) अपने घर में एंट्री की इजाजत नहीं देंगे तो महागठबंधन में उनका प्रवेश कैसे हो सकता है। बता दें कि इससे पहले 26 जून को तेजप्रताप के छोटे भाई और बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा था कि महागंठबंधन में नीतीश कुमार के दोबारा आने के लिए अब दरवाजे बंद हैं। चाहे कुछ भी हो जाए महागठबंधन में उनकी वापसी अब संभव नहीं है।

तेजप्रताप यहीं नहीं रुके उन्होंने सुशील मोदी पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि वह एक डरपोक नेता हैं। उन्होंने सुशील मोदी की तरफ से लगातार तेजस्वी पर लगाए जा रहे आरोपों पर कहा कि वह सुशील मोदी से डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वह जरा सड़क पर निकलें तो सही, जनता उन्हें मुंहतोड़ जवाब देगी। वह बंद कमरे में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हैं और हर बार उन्हीं बातों को उजागर करते हैं जो पहले बोल चुके होते हैं। पुरानी बातों को ही बार-बार निकालकर बताते हैं।

तेजप्रताप ने कहा कि सुशील मोदी के बारे में क्या कहा जाए, वे घर पर बैठकर चाय पीएं तो अच्छा रहेगा। गौरतलब है कि बीते कुछ महीनों से सुशील प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लालू के परिवार पर लगातार हमले करते रहे हैं। वह बार-बार उनके बेनामी संपत्ति मामले पर भी सवाल उठाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तराखंड: जल्द निकाय चुनाव के लिए सरकार पर दबाव बना रही कांग्रेस

देहरादून: विधानसभा का मानसून सत्र निपटने के बाद