पूर्व सीएम हुड्डा खेमे को नजरअंदाज कर तंवर ने बजाया चुनावी बिगुल

चंडीगढ। हरियाणा में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ. अशोक तंवर ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व वाले खेमे को नजरअंदाज कर चुनावी बिगुल बजा दिया है। राज्य के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों से बुलाए गए प्रमुख पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक में तंवर ने उन्हें अगले दो से तीन माह का काम सौंप दिया है। पार्टी कार्यकर्ता जनता के बीच जाकर न केवल लोगों की दुख तकलीफों का समाधान कराएंगे, बल्कि इस अवधि में उन्हें खुद को साबित भी करना होगा।पूर्व सीएम हुड्डा खेमे को नजरअंदाज कर तंवर ने बजाया चुनावी बिगुल

टिकट के दावेदार नेताओं को किया एकजुट, अगले दो से तीन माह फील्ड में रहेंगे उम्मीदवार

तंवर ने बैठक में साफ किया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं की यही सक्रियता अगले चुनाव में टिकट मिलने का पैमाना होगा। बैठक चंडीगढ़ के हरियाणा पंचायत भवन में करीब चार घंटे तक चली। हालांकि इसमें कुलदीप बिश्नोई, कुमारी सैलजा, किरण चौधरी और कैप्टन अजय यादव समेत कोई विधायक नजर नहीं आया, लेकिन कई बड़े चेहरे, पूर्व मंत्री, पूर्व विधायक, पूर्व प्रत्याशी और टिकट के मौजूदा दावेदार तंवर के मंच पर दिखाई दिए।

इनमें पूर्व राज्यसभा सदस्य चौ. ईश्वर सिंह, पूर्व सांसद रणजीत सिंह, पूर्व मंत्री बिजेंद्र कादियान, पूर्व मंत्री राम स्वरूप रामा, पूर्व विधायक नरेश यादव, पूर्व मुख्य संसदीय सचिव सुल्तान सिंह जड़ौला, ज्ञान चंद सहोता, हाल ही में कांग्रेसी बने पूर्व आइएएस प्रदीप कासनी, तरुण भंडारी, कुलदीप सोनी और पंडित होशियारी लाल शर्मा शामिल थे।

उत्साह से लवरेज अशोक तंवर ने पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को बिजली, पानी व सड़कों के लिए आंदोलन करने, घर-घर कांग्रेस अभियान चलाने, सेक्टरों में एन्हांसमेंट के नोटिसों से परेशान लोगों का साथ देने, असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए काम करने तथा कर्मचारियों व किसानों के आंदोलन में बढ़ चढ़कर भागीदारी करने को कहा। 

कार्यकर्ताओं के पास खुद को साबित करने के लिए दो से तीन माह 

तंवर ने कहा कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव किसी भी समय हो सकते हैं। इसलिए कार्यकर्ताओं के पास खुद को साबित करने के लिए दो से तीन माह ही बचे हैं। इस अवधि के बाद पार्टी के भावी विधायकों का एक राज्य स्तरीय सम्मेलन फरीदाबाद जिले के सूरजकुंड में आयोजित किया जाएगा।

उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस सभी 10 लोकसभा और 80 विधानसभा सीटों पर चुनाव जीतेगी और टिकटों में समर्पित व सक्रिय कार्यकर्ताओं को ही महत्व दिया जाएगा। उन्होंने विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा कि जिन लोगों ने राज कर लिया, उन्हें अधिक चिंता की जरूरत नहीं है, क्योंकि किसी भी चीज की अति बदहजमी पैदा कर देती है। इसलिए जिन्हें आज तक कुछ नहीं मिला, इस बार उन्हें ही मिलेगा। 
 
हर जिले में होंगे सम्मेलन, फिर राज्य स्तरीय रैली की तैयारी 

अशोक तंवर को हरियाणा कांग्रेस के नए प्रभारी का इंतजार है। उन्होंने भरे सम्मेलन में कहा कि हमारी प्रदेश कमेटी, जिलाध्यक्षों व ब्लाक अध्यक्षों की लिस्ट तैयार थी, मगर उसमें गड़बड़ कर दी गई थी। इस कारण हमने उसे रात में ही रुकवा दिया। अब नए प्रभारी के आते ही सबसे पहले कमेटियां फाइनल कराई जाएंगी। उन्होंने कहा कि जिला प्रभारियों की नियुक्तियां हो चुकी हैं। जिलाध्यक्ष पहले से काम कर रहे हैं। इसलिए सभी जिलों में सम्मेलन आयोजित किए जाने चाहिए, जिसके बाद सितंबर अथवा अक्टूबर में राज्य स्तरीय रैली का आयोजन किया जाएगा। 

नए प्रभारी के आते ही कई विधायक और सांसद होंगे कांग्रेस में शामिल 

अशोक तंवर ने भाजपा विधायकों पर जनता व व्यापारियों से अवैध उगाही करने के खुले आरोप सम्मेलन में लगाए हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह से इनेलो नेता उगाही करते थे, उसी तर्ज पर अब भाजपा विधायकों को एक-एक करोड़ रुपये की उगाही करने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा कांग्रेस के नए प्रभारी के नाम की घोषणा होते ही दूसरे दलों के 40 से 50 नेताओं की कांग्रेस में एंट्री कराई जाएगी। इनमें कई विधायक और सांसद भी शामिल हैं।

Loading...

Check Also

MP चुनाव: राघौगढ़ की जनता बोली- कांग्रेस के विधायक हैं इसलिए राज्य सरकार का ध्यान नहीं

MP चुनाव: राघौगढ़ की जनता बोली- कांग्रेस के विधायक हैं इसलिए राज्य सरकार का ध्यान नहीं

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए 28 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। अमर उजाला आपको बता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com