तेजप्रताप ने नया ड्रामा करते हुए नीतीश से कही ये बात, कहा…

पटना। लालू के लाल कन्हैया यानि तेजप्रताप अपने कारनामों से मीडिया की सुर्खियों में बने रहते हैं। कभी बांसुरी बजाकर, कभी गायें चराकर, कभी मंच से शंखनाद करके तो कभी पीएम मोदी के खिलाफ अापत्तिजनक बयान देकर। आजकल उन्होंने अपने बयानों से सियासी हलचल मचा रखी है। एक ओर तो वो अपने पारिवारिक विवाद को लेकर बयानबाजी करते दिखते हैं तो वहीं आजकल वो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यानि नीतीश चाचा से भी खासा नाराज चल रहे हैं।तेजप्रताप ने नया ड्रामा करते हुए नीतीश से कही ये बात, कहा...

उन्होंने रविवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा था कि हम अपने घर यानि 10 सर्कुलर रोड में ही नो इंट्री का बोर्ड लगा देंगे उनको अपने घर में नहीं घुसने देंगे तो आज तेजप्रताप नो इंट्री का बोर्ड लेकर मीडिया के सामने पहुंच गए और दिखाते हुए कहा कि नो इंट्री है नीतीश चाचा… 

कल तेजप्रताप को इसका जवाब देते हुए जदयू नेता अजय आलोक ने कहा था कि सरकारी बंगले को अपना बंगला बता रहे हैं, ये सब बचपना है। उन्हें खुद नहीं पता कि इस बंगले में कितने दिन रहेंगे?

तेजप्रताप ने आज कहा कि मेरा फेसबुक एकाउंट किसी ने हैक कर लिया है। ये सब मेरी लोकप्रियता से घबराकर बीजेपी और आरएसएस की चाल है और उसपर अनर्गल बातें लिखी गईं हैं। ये लोग नीतीश चाचा और सुशील मोदी चाचा मुझसे डर गए हैं और अब एेसी चालें चल रहे हैं। मैं एफआइआर करूंगा, साइबर सेल को बताउंगा। 

उनके इस बयान के बाद भाजपा नेता और बिहार सरकार में मंत्री मंगल पांडेय ने तंज कसते हुए कहा कि दशरथ ने राम को अयोध्या की गद्दी सौंपी थी, उसी तरह तेजप्रताप को राजद की गद्दी देनी चाहिए थी। यही पीड़ा तेजप्रताप यादव को है और वे लालू-राबड़ी के दबाव में ही विरोध कर रहे हैं। उनका फेसबुक अकाउंट हैक हुआ है तो साइबर क्राइम को दें। 

वहीं तेजप्रताप ने पारिवारिक विवाद पर कल फेसबुक पोस्ट लिखा था जिसमें उन्होंने अपना दर्द बयां करते हुए लिखा था कि मम्मी पापा मेरी बात नहीं सुनते। मेरी कोई वैल्यू नहीं। उन्होंने कई आरोप लगाए और बाद में सफाई दी कि मेरा फेसबुक अकाउंट हैक हो गया है और लोग मेरे परिवार में फूट डालने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं, तेज प्रताप की सफाई पर जदयू नेता नीरज कुमार ने तंज कसा है और कहा है कि फेस बुक अकांउट संभलता नहीं चले हैं राजनीति करने। इसके बाद उन्होंने कहा कि घर में लगी आग घर के ही चिराग से।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

तीन तलाक अध्यादेश को आजम खां ने बताया भाजपा का चुनावी मुद्दा

अखिलेश यादव सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम