सुशील मोदी ने लालू परिवार पर साधा निशाना, लगाया ये बड़ा आरोप

- in बिहार, राजनीति

पटना : मुश्किलों से घिरे लालू यादव पर सूबे के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने अपने वार जारी रखते हुए कहा कि तेजस्वी यादव और लालू परिवार फेयरग्रो आयरन एंड स्टील कंपनी और पटना शहर के अत्यंत पॉश इलाके में दो मंजिला मकान सहित जमीन के मालिक बन बैठे हैं. उन्होंने कहा कि आयकर विभाग ने तेजस्वी यादव की जिस संपत्ति को 9 फरवरी को जब्त किया है वह संपत्ति टाटा कंपनी की थी. 30 अक्टूबर 2002 को टाटा आयरन एंड स्टील कंपनी लिमिटेड के 7105 वर्गफुट जमीन में निर्मित 5348 वर्गफुट के दो मंजिला मकान को फर्जी कंपनी जिसके निदेशक तेजस्वी सहित लालू परिवार ने खरीदा हुआ दिखलाया है. 1990 से 2000 तक संयुक्त बिहार के दौरान और उसके बाद के वर्षों तक यह टाटा कंपनी का दफ्तर तथा गेस्ट हाउस हुआ करता था.सुशील मोदी ने लालू परिवार पर साधा निशाना, लगाया ये बड़ा आरोप

सुशील मोदी ने कहा कि लालू-राबड़ी के शासन काल में टाटा कंपनी को अनेक प्रकार से उपकृत किया जाता रहा है. लालू परिवार की बड़ी बेटी मीसा भारती  का नामांकन योग्यता के आधार पर नहीं बल्कि टाटा कंपनी के कोटे से टाटा मेडिकल कॉलेज जमशेदपुर में हुआ था. इतना ही नहीं लालू प्रसाद की एक और बेटी रोहिणी आचार्य एवं लालू के कबाब मंत्री अनवर अहमद की बेटी का नामांकन भी टाटा मेडिकल कॉलेज में 1998 में टाटा कोटे की सीट पर कराया गया था. लालू प्रसाद के अत्यंत विश्वस्त अलकतरा घोटाले के आरोपी इलियास हुसैन की बेटी आसमां का नामांकन भी टाटा मेडिकल कॉलेज में टाटा कोटे से कराया गया था.

उन्होंने कहा कि 2002 में जब यह बेशकीमती जमीन और मकान की खरीद दिखाई गई हैं. उस समय राज्य की मुख्यमंत्री राबड़ी देवी थी. टाटा कंपनी के इस बेशकीमती मकान को खरीदने के लिए फेयरग्रो जैसी फर्जी कंपनी का इस्तेमाल किया गया. बहरहाल लालू परिवार पर लगातार मुसीबतें जारी है. कल ही लालू को जबरन दिल्ली एम्स से छुट्टी देकर रांची भेज दिया गया जिसका खुद लालू ने घोर विरोध किया. सीबीआई के छापे और समन के बाद सम्पतियों की कुर्की जारी है इस सब के बीच चारा घोटालें की सजा काट रहे लालू की जमानत याचिकाएं भी ख़ारिज हो रही है और इसी माह उनके बड़े बेटे तेजप्रताप की शादी भी है.  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मायाराज में हुए स्मारक घोटाले पर अखिलेश सरकार ने साधी चुप्पी

मायाराज में नोएडा व राजधानी लखनऊ में अंबेडकर