चार सीएम के साथ काम कर चुके सुभाष कत्याल फिर भाजपा में शामिल

चंडीगढ़। करीब चार दशक से राजनीति कर रहे हरियाणा के पूर्व मंत्री सुभाष कत्याल ने भाजपा का दामन थाम लिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सहमति के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने सुभाष कत्याल को पार्टी में शामिल कराया। सुभाष कत्याल की पहचान राज्य के पंजाबी नेता के रूप में है। उनके भाजपा में शामिल होने से पलवल व फरीदाबाद जिलों में भाजपा को राजनीतिक ताकत मिल सकती है। चार सीएम के साथ काम कर चुके सुभाष कत्याल फिर भाजपा में शामिल

चंडीगढ़ स्थित हरियाणा निवास में सोमवार को आयोजित एक कार्यक्रम में भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला, सीएम के मीडिया सलाहकार राजीव जैन और विधायक उमेश अग्रवाल की मौजूदगी में सुभाष कत्याल भाजपा में शामिल हुए। कत्याल ने कहा कि वे और उनके कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल की नीतियों से काफी प्रभावित हैैं। इसलिए अब उन्होंने विधिवत भाजपा में शामिल होने का निर्णय लिया है। 

सुभाष कत्याल बरसों तक इनेलो में रहे। कत्याल ने पहला चुनाव वर्ष 1982 में पलवल से निर्दलीय लड़ा और दूसरे नंबर पर रहे। वर्ष 1987 में लोकदल-भाजपा गठबंधन से चुनाव लड़े और कांग्रेस प्रत्याशी को हराया। कत्याल चौधरी देवीलाल, बनारसी दास गुप्ता, मा. हुकम सिंह व ओमप्रकाश चौटाला के मंत्रिमंडल में भी मंत्री रहे। वर्ष 2002 में चौटाला ने उन्हें हरियाणा विद्युत विनियामक आयोग का सदस्य और हरियाणा पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग का चेयरमैन बनाया।

इसके बावजूद सुभाष कत्याल ने वर्ष 2014 के चुनाव से पहले ही इनेलो छोड़ दी थी और भाजपा में शामिल हो गए थे। टिकट को लेकर मतभेद के कारण उन्होंने तब पलवल से बसपा से चुनाव लड़ा था। सुभाष बराला ने उन्हें भाजपा में शामिल कराने के बाद कहा कि पार्टी में उनके मान सम्मान का पूरा ख्याल रखा जाएगा।

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

दो दिवसीय दौरे पर गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी, 87 करोड़ लागत की योजनाओं का किया लोकार्पण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को