कानपुर में धरना-प्रदर्शन के बीच शुरू हुई बैंक कर्मियों की हड़ताल

कानपुर : वेतन वृद्धि की माग को लेकर के यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आह्वान पर बैंक कर्मियों की दो दिवसीय हड़ताल बुधवार को शुरू हो गई। शहर के जोनल तथा क्षेत्रीय कार्यालय में बैंक कर्मियों ने धरना दिया और अपनी मांग को लेकर जमकर नारेबाजी की। बैंक कर्मियों ने कहा कि मात्र दो फीसद की वेतन वृद्धि हमें किसी भी हालत में मंजूर नहीं है।कानपुर में धरना-प्रदर्शन के बीच शुरू हुई बैंक कर्मियों की हड़ताल

नोटबंदी के दौरान उनसे जम कर काम लिया गया था और अब उसका प्रतिफल कुछ भी नहीं मिल रहा है। बैंक कर्मियों ने आरोप लगाया कि बैंकों की लाभ की स्थिति बहुत अच्छी है लेकिन एनपीए के मामले में बैंकों को घाटे में दिखाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय बैंक संघ ने उन्हें हड़ताल पर जाने के लिए मजबूर किया है। इस दौरान बैंकों की शाखाओं के ताले तक नहीं खुले और बैंक के बाहर बैंक कर्मचारियों और अफसरों ने मिलकर धरना दिया। हड़ताल कर रहे बैंक कर्मियों ने कहा कि सरकार को उनकी मांगों पर ध्यान देकर उचित निर्णय करना चाहिए, दो फीसद की वेतन वृद्धि हम किसी भी कीमत पर स्वीकार नहीं करेंगे।

खुले रहे निजी बैंक

दो दिवसीय बैंक कर्मचारियों की हड़ताल के दौरान निजी क्षेत्र के बैंक खुले रहे। इन बैंकों में काम होता रहा। हड़ताली कर्मचारियों ने इन्हें बंद कराने का कोई प्रयास नहीं किया।

एटीएम पर नहीं है असर

बैंक कर्मियों की हड़ताल का एटीएम सेवा पर कोई असर नहीं पड़ा। सभी जगह पर एटीएम काम करते रहे। जो एटीएम पहले से खराब थे वहा जरूर ग्राहक धन नहीं निकाल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

ओडिशा पहुंचा चक्रवाती तूफान, मौसम विभाग ने राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश की दी चेतावनी

चक्रवाती तूफान ‘डे’ ने ओडिशा में दस्तक दे