पथरी का रामबाण इलाज है तोरई, जानें क्या हैं फायदे

- in हेल्थ

तोरई की सब्जी बहुत स्वादिष्ट और पौष्टिक होती है। गर्मियों के आस-पास आने वाली तोरई में ढेर सारे ऐसे गुण होते हैं, जो इसे आपकी सेहत के लिए परफेक्ट सब्जी बनाते हैं। तोरई की सब्जी खाने से शरीर में रक्त का निर्माण होता है और रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है। इसके अलावा इसे खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।पथरी का रामबाण इलाज है तोरई, जानें क्या हैं फायदे

डॉक्टर्स भी अक्सर हरी सब्जियां खाने की सलाह देते हैं। तोरई की खास बात ये है कि इसमें काफी मात्रा में पानी होता है जिसके कारण ये पाचन में आसान होती है और पेट को कई बीमारियों से बचाती है। तोरई में इन सभी गुणों के अलावा एक और गुण है जिससे आप अब तक अंजान होंगे। तोरई को आयुर्वेद में पथरी का रामबाण इलाज माना जाता है। आइये आपको बताते हैं कि पथरी को कैसे ठीक करती है तोरई और इसके अन्य क्या फायदे हैं।

पथरी के लिए ऐसे करें प्रयोग

अगर आपकी पथरी छोटी है या पथरी की शुरुआत है, तो तोरई के सेवन से पथरी धीरे-धीरे गलती है और समाप्त हो जाती है। तोरई में काफी मात्रा में फाइबर होता है। इसके अलावा इसमें विटामिन सी, राइबोफ्लेविन, जिंक, थियामिन, आयरन और मैग्नीशियम होता है इसलिए इसे खाने से किडनी की पथरी के साथ-साथ अन्य रोग समाप्त हो जाते हैं।
किडनी की पथरी के लिए तोरई को मिक्सर में पीसकर इसका रस निकाल लें और गाय के दूध में मिलाकर इस रस को पिएं। रोज 2 बार पीने से आपकी पथरी तेजी से गलना शुरू होती है और कुछ दिन में समाप्त हो जाती है।

लिवर रोगों में भी फायदेमंद है तोरई

लगातार तोरई का सेवन करना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। तोरई रक्त शुद्धिकरण के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है साथ ही यह लिवर के लिए भी गुणकारी होता है। पीलिया होने पर अगर रोगी की नाक में 2 बूंद तोरई के फल का रस डाल दें, तो नाक से पीले रंग का द्रव बाहर निकलता है। जिससे पीलिया रोग जल्दी समाप्त हो जाता है।

वजन भी नहीं बढ़ाती तोरई

एक तोरई में लगभग 95 प्रतिशत पानी और केवल 25 प्रतिशत कैलोरी होती है। जिससे वजन नहीं बढ़ता। इसमें संतृप्त वसा और कोलेस्ट्रॉल की भी बहुत ही सीमित मात्रा होती है जो वजन कम करने में सहायक होती है।

आंखों के लिए तोरई है फायदेमंद

तोरई में बीटा कैरोटीन पाया जाता है जो नेत्र दृष्टि बढ़ाने में मदद करता है। अगर आप अपनी आंखों की रोशनी बढ़ाना चाहते हैं तो अपने आहार में तुरई को शामिल करें।

डायबिटीज का खात्मा करे तोरई

तोरई ब्‍लड और यूरीन दोनों में शुगर के स्‍तर को कम करने में मदद करती है। इसलिए यह डायबिटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद होती है। तोरई में इन्सुलिन की तरह पेप्टाईड्स पाए जाते हैं। इसलिए इसे डायबिटीज नियंत्रण के लिए एक अच्छे उपाय के तौर पर देखा जाता है। इसलिए सब्जी के तौर पर इसके इस्तेमाल से डायबिटीज में फायदा होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

प्रेगनेंसी में इन बीमारियों से बचने के लिए अपनाएं ये डाइट प्लान

प्रेगनेंसी के दौरान एक महिला के शरीर में