Home > राज्य > पंजाब > भुल्लर्स ऑल द वे: दादा से पोते तक तीनों रहे एक ही जिले में एसएसपी

भुल्लर्स ऑल द वे: दादा से पोते तक तीनों रहे एक ही जिले में एसएसपी

जालंधर। ऐसे अनेक उदाहरण हैैं कि कई पीढिय़ां एक ही प्रोफेशन में उच्च पदों पर रही हैं, लेकिन ऐसा शायद ही कहीं हुआ हो कि किसी जिले में एसएसपी (वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक) पद पर दादा भी रहे हों, बेटा भी और पोता भी। जी हां, जालंधर में इस समय नियुक्त एसएसपी (देहात) गुरप्रीत सिंह भुल्लर के पिता गुरइकबाल सिंह भुल्लर व दादा गुरदयाल सिंह भुल्लर भी इसी जिले में इसी पद पर तैनात रह चुके हैैं।भुल्लर्स ऑल द वे: दादा से पोते तक तीनों रहे एक ही जिले में एसएसपी

दिलचस्प : भुल्लर परिवार की तीन पीढिय़ों का एक प्रोफेशन

गुरप्रीत सिंह भुल्लर के बारे में एक और दिलचस्प तथ्य यह भी है कि वह मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह व पूर्व उप मुख्यमंत्री और अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल से भी अमीर हैैं। गत चुनावों के दौरान भरे गए नामांकन में कैप्टन ने अपनी संपत्ति 48 करोड़ व सुखबीर ने 102 करोड़ घोषित की थी। गुरप्रीत सिंह भुल्लर 152 करोड़ की अचल संपत्ति के मालिक हैैं। इस संपत्ति का आंकड़ा उन्होंने मोहाली में एसएसपी पद पर नियुक्ति के वक्त दिया था।

एसएसपी (देहात) जालंधर गुरप्रीत सिंह भुल्लर के पिता और दादा भी रह चुके हैं जालंधर के एसएसपी

भुल्लर सिर्फ आर्थिक रूप से ही अमीर नहीं है, बल्कि पंजाब में उनके परिवार की सेवाएं उससे भी कहीं ज्यादा अमीर हैं। भुल्लर परिवार की खास बात यह है कि एसएसपी के रूप में जालंधर में सेवाएं देने वाले इस परिवार ने आजादी के बाद के समृद्ध एवं शांत पंजाब, आतंकवाद के चरम दौर से लेकर आतंकवाद के बाद के पंजाब को सेवाएं दी हैं।

पुलिस विभाग से सेवानिवृत्त हो चुके कई बुजुर्ग अधिकारी बताते हैं कि गुरदयाल सिंह ने पंजाब में अपने कार्यकाल के दौरान ईमानदारी की मिसाल पेश की थी। उन्होंने 9 सितंबर 1957 से 25 मार्च 1960 तक बतौर एसएसपी जालंधर को सेवाएं दी थीं, जबकि पिता गुरइकबाल सिंह भुल्लर ने 5 मार्च 1980 से लेकर 5 मार्च 1984 तक जालंधर एसएसपी के रूप में सेवाएं दी थीं।

पिता व दादा पीपीएस के रूप में नियुक्त हुए थे, बाद में वे आइपीएस के रूप में प्रोन्नति पाकर आइजी व डीआइजी के रूप में सेवानिवृत्त हुए थे। अब गुरप्रीत सिंह भुल्लर जालंधर में अपने दूसरे कार्यकाल के रूप में सेवाएं दे रहे हैं। पहले वे 2003 में यहां एसएसपी रहे थे।

मुझे गर्व है: गुरप्रीत सिंह 

” दादा जी के समय से पुलिस विभाग के माध्यम से देश व समाज सेवा करने की प्रेरणा व जज्बा मिला है, उसी की तीसरी पीढ़ी के रूप में मैं इस संकल्प के साथ सेवाएं दे रहा हूं, समाज व लोगों की भलाई के लिए जितना कर सकते हैं करें। मुझे गर्व है कि मेरे पिता जी व दादा जी ने अपने काम, ईमानदारी व कर्मठता से पुलिस विभाग ने एक साफ छवि बनाई थी, वही छवि आज तक कायम है। आगे भी रहेगी।

20 साल से एसएसपी पद पर हैं भुल्लर

एसएसपी गुरप्रीत भुल्लर पंजाब के पहले ऐसे एसएसपी हैं, जो लगातार 20 साल से इस पद पर तैनात हैं। वर्ष 1991 में पटियाला में उनकी नियुक्ति बतौर डीएसपी हुई थी। 1998 में उन्हें एसएसपी मुक्तसर तैनात किया गया। तब से वे पंजाब के विभिन्न जिलों में बतौर एसएसपी सेवाएं दे रहे हैं।

Loading...

Check Also

पुलवामा अातंकी हमले में शहीद हुआ उत्तराखंड का लाल, देर रात पहुंचेगा पार्थिव शरीर

पुलवामा अातंकी हमले में शहीद हुआ उत्तराखंड का बेटा, देर रात पहुंचेगा पार्थिव शरीर

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकियों की ओर से रविवार की देर शाम सीआरपीएफ कैंप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com