स्पर्म काउंट को बढ़ाते हैं ये 8 फूड, अपनी डाइट में करे शामिल

आप जो भी खाते-पीते हैं, उसका आपकी फर्टिलिटी पर बहुत असर पड़ता है. खासतौर से फैमिली प्लान करने वालों को शारीरिक रूप से खुद को पूरी तरह तैयार कर लेना चाहिए. फर्टिलिटी डाइट महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों के लिए भी बहुत मायने रखती है. कुछ फूड स्पर्म काउंट बढ़ाने के साथ इसकी क्वालिटी भी बेहतर करते हैं. वहीं कुछ स्पर्म काउंट को कम कर देते हैं. आइए जानते हैं इन फूड्स के बारे में.

कद्दू के बीज– कद्दू के बीज में बहुत सारा जिंक पाया जाता है. जिंक पुरुषों में फर्टिलिटी बढ़ाने वाले जरूरी मिनरल्स में से एक है. ये टेस्टोस्टेरोन, स्पर्म मोटिलिटी और स्पर्म काउंट भी बढ़ाता है.

संतरे- संतरे विटामिन C से भरपूर होते हैं और स्टडीज में ये बात साबित हो चुकी है कि विटामिन C स्पर्म मोटिलिटी, काउंट और इसकी बनावट में सुधार करता है. विटामिन C वाले अन्य फूड जैसे कि टमाटर, ब्रोकली और बंद गोभी को अपनी डाइट में शामिल करें.

गहरे रंग की पत्तेदार सब्जियां- पालक, लेट्यूस, ब्रसेल्स स्प्राउट्स और शतावरी में फोलेट पाया जाता है. इसे विटामिन B के रूप मे भी जाना जाता है. फोलेट स्पर्म को मजबूत और हेल्दी बनाता है.

डार्क चॉकलेट- डार्क चॉकलेट में आर्जिनिन नाम का एमिनो एसिड होता है. ये स्पर्म काउंट और क्वालिटी में सुधार कर सकता है.

सैल्मन और सार्डिन फिश- कुछ मछलियों में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है. खासतौर से सैल्मन, मैकेरल, टूना, हेरिंग और सार्डिन फिश में पाया जाने वाला ओमेगा-3 फैटी एसिड स्पर्म क्वालिटी और काउंट सुधारने में मदद करता है.

अनार का जूस- अनार के जूस में में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट टेस्टोस्टेरोन के स्तर में सुधार करता है. इससे पुरुषों की यौन इच्छा बढ़ती है और स्पर्म का विकास बेहतर तरीके से होता है.

ब्राजील नट्स- ब्राजील नट्स में पाया जाने वाला सेलेनियम स्पर्म की संख्या, आकार और इसकी गतिशीलता को बढ़ाने में मदद करता है.

पानी- शरीर में पानी की मात्रा का भी स्पर्म पर असर पड़ता है. हाइड्रेटेड रहने से अच्छा सेमिनल फ्लूइड बनने में मदद मिलती है.

इन सुपरफूड को डाइट मे शामिल करने से स्पर्म की क्वालिटी अच्छी होती है. वहीं खाने की कुछ चीजें स्पर्म को खराब करती हैं और अगर आप फर्टिलिटी बढ़ाना चाहते हैं तो इन चीजों से दूरी बनाना आपके लिए अच्छा रहेगा.

फ्राइड फूड्स- फ्राइड फूड्स को पचाना थोड़ा मुश्किल होता है और इसकी वजह से स्पर्म क्वालिटी खराब होती है.

फुल फैट डेयरी प्रोडक्ट- फुल फैट डेयरी प्रोडक्ट में एस्ट्रोजन होता है और ये हेल्दी स्पर्म को कम करने का काम करता है. 

प्रोसेस्ड मीट- प्रोसेस्ड मीट, हॉट डॉग्स, सॉसेज और मीट सॉस भी स्पर्म काउंट को कम करते हैं.

कैफीन- स्टडीज में ये बात सामने आ चुकी है कि कैफीन का ज्यादा इस्तेमाल महिलाओं और पुरुषों दोनों की फर्टिलिटी पर असर डालता है. ज्यादा मात्रा में ये गर्भपात का खतरा भी बढ़ाता है.

शराब- एक या दो ड्रिंक ठीक है लेकिन अगर आप एक सप्ताह में 14 से अधिक ड्रिंक्स करते हैं तो ये आपके टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम कर सकता है. इसके अलावा ज्यादा शराब स्पर्म काउंट भी कम करता है. स्टडीज के अनुसार शराब स्पर्म पर बुरा असर डालती है.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × four =

Back to top button