…तो इस कारण ‘शारीरिक संबंध’ बनाने के बाद ‘उदास’ हो जाती हैं महिलायें…

- in जीवनशैली

कहते हैं की महिलाओं के लिए जो सबसे खाश चीज है वो है सेक्स!इसके बिना वो मुरझाये फूल की तरह होती है लेकिन आखिर ऐसा क्या है कि महिलायें कबी-कभी डरती भी है|डर के कारण सेक्स में वो मजा नहीं आता है|आखी क्या है ये डर?

सेक्स से जहाँ पुरुषो के लिए अजीबो-गरीब फेंटेसी को पूरा करने का साधन है|वही महिलाओं के लिए ये रिलेशन काफी इमोशनल होता है|वो इसमें खुद को समर्पित करती है इसलिए एक डर यह भी है की पुरुष उस रिलेशन को लेकर सीरियस है भी या नहीं|

हमारे कल्चर में ‘सेक्स’ एक ऐसा मुद्दा है, जिसके बारे में जानना सब चाहते हैं लेकिन खुलकर बात करने में कतराते हैं। वैसे यह सही भी है। हमारी संस्कृति और संस्कार हमें खुलकर इस विषय पर बोलने की इजाजत नहीं देते। लेकिन इसके बावजूद केवल भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में ‘सेक्स’ को लेकर उत्सुकता बनी रहती है।

सब इसके बारे में अलग-अलग विचार रखते हैं। यहां तक की ‘सेक्स’ को लेकर देश-विदेश में कई स्टडीज भी हो चुकी है। ऐसी ही एक स्टडी इस बात पर हुई है कि ‘सेक्स’ के बाद लोग कैसा महसूस करते हैं? खासतौर पर महिलाओं का इस बारे में क्या सोचना है? वो ‘सेक्स’ के बाद कैसा फील करती हैं?

आमतौर पर ये देखा जाता है कि ‘सेक्स’ के बाद महिलाओं में उदासी और निराशा का भाव आ जाता है, लेकिन ऐसा क्यों होता है? इसके पीछे क्या वजह है? आइये जानते हैं।

कपल्स के बीच इंटिमेसी

पति-पत्नी हो या गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड कपल्स के बीच शारीरिक संबंधों का होना एक आम बात है। लेकिन क्या आपने कभी गौर किया कि शारीरिक संबंध बनाने के बाद आपके पार्टनर का व्यवहार आपके प्रति थोड़ा बदल सा जाता है।

रात को नाभि पर सरसों का तेल लगाने से होते हैं 2 बड़े फायदे, लड़कियां जरूर पढ़ें …

उदास कर जाता है मन

एक स्टडी में ये बात सामने आई है कि सहमति से बने शारीरिक संबंधों के बाद भी ज्यादातर लोगों के मन में उदासी और निराशा के भाव पैदा होने लगते हैं।

हार्मोन निकलना है वजह

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शारीरिक संबंध बनाने के दौरान शरीर में निकल रहे हार्मोन्स (एंडोर्फिन्स,ऑक्सीफिन्स और प्रोलेक्टिन) के निकलने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है।

फील गुड हार्मोन्स

शारीरिक संबंध बनाने के दौरान फील गुड हार्मोन्स निकलते हैं जबकि बाद में इन हार्मोन्स का निकलना कम हो जाता है। इससे धीरे-धीरे हम बुरा महसूस करने लगते हैं।

इसके अलावा…

स्टडी के मुताबिक

स्टडी के दौरान एक महिला ने अपना अनुभव शेयर करते हुए बताया कि ‘जितनी बार मैंने शारीरिक संबंध बनाए। उतनी बार मुझे ऐसा लगा जैसे कोई मुझसे कुछ छीन रहा है।’

पोस्ट कॉयटल डिप्रेशन

शारीरिक संबंध बनाने के बाद इस उदासी, दुःख, चिड़चिड़ेपन और परेशानी की भावना को ‘पोस्ट कॉयटल डिप्रेशन’ कहा जाता है। सबसे दिलचस्प बात तो ये है कि ऐसा सहमति के साथ हुए ‘सेक्स’ के बाद महसूस होता है।

अफसोस नहीं सिर्फ एक प्रक्रिया

शारीरिक संबंध के बाद हुए इस डिप्रेशन में उदास होना कोई असामान्य बात नहीं है। यह इसलिए नहीं होता क्योंकि उन्हें अफसोस महसूस हो रहा है बल्कि यह शरीर में हो रही एक प्रक्रिया का लक्षण है।

कुछ में ज्यादा कुछ में कम

यह एक ऐसी बायोलॉजिकल प्रक्रिया है, जो किसी में ज्यादा और किसी में कम मात्रा में देखने में आती है। कभी-कभी ये भाव इतने ज्यादा होते हैं कि रुला देते हैं और अपना प्रभाव चार हफ्तों तक छोड़ते रहते हैं।

वाशरूम में जाकर रोना

स्टडी में एक और महिला ने अपना अनुभव शेयर करते हुए बताया कि उसकी शादी को 20 साल हो गए हैं। लेकिन इसके बावजूद वो ‘सेक्स’ के बाद अक्सर बाथरूम में जाकर रोती है।

अगर लगातार ऐसा हो तो…

शुरुआत में या कुछ देर के लिए ऐसा होना एक सामान्य प्रक्रिया है। लेकिन अगर लगातार ऐसा हो रहा हो तो इसे सामान्य नहीं मानना चाहिए। हो सकता है आपके रिश्ते में कोई समस्या हो या आपका पार्टनर आपके साथ कम्फर्टेबल महसूस ना कर रहा हो। अपने पार्टनर से बात करें और मिलकर इस समस्या का समाधान निकालें।

 

You may also like

शेविंग के पहले और बाद में इन बातों का रखें ख्याल, नहीं होगा इंफेक्शन

जल्दी-जल्दी शेव करने से त्वचा खराब हो जाती