अभी-अभी: फ्रेंच हैकर के खुलासे से फंसी कांग्रेस, ऐप-मेंबरशिप वेबसाइट की बंद

फेसबुक डेटा लीक मामले को लेकर उपजे विवाद के बीच कांग्रेस और बीजेपी आमने-सामने हैं. लेकिन जैसे ही कांग्रेस के ऐप (with INC) पर सवाल उठा तो, पार्टी ने आनन-फानन में इस ऐप को प्ले स्टोर से हटा दिया. एक तरह से इस मामले में अब कांग्रेस बैकफुट पर आ गई है.

अभी-अभी: फ्रेंच हैकर के खुलासे से फंसी कांग्रेस, ऐप-मेंबरशिप वेबसाइट की बंददरअसल फेसबुक डेटा लीक विवाद सामने आने के बाद से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत तमाम बड़े नेता बीजेपी पर हमलावर थे, राहुल ने  ‘नमो ऐप’ पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया कि इसके जरिये सीक्रेट डेटा को लीक किया जा रहा है. जिसपर बीजेपी को सफाई तक देनी पड़ी थी.

लेकिन जैसे ही कांग्रेस पर (with INC) को लेकर सवाल दागा गया तो, पार्टी ने इस ऐप को गूगल प्ले स्टोर से हटा दिया और साथ ही कांग्रेस सदस्यता वाली वेबसाइट (membership.inc.in) को भी बंद कर दिया गया. अचानक हटाने के लेकर जब सवाल उठने लगे तो कांग्रेस की ओर से सफाई दी गई कि पिछले 5 महीने से ये ऐप इस्तेमाल में नहीं था.

कांग्रेस का कहना है कि (with INC) ऐप को INC वेबसाइट से 16 नवंबर 2017 को ही हटा दिया गया था, हालांकि कांग्रेस ने माना है कि आज इसे गूगल प्ले स्टोर से डिलीट किया गया. इसके अलावा कांग्रेस का कहना है कि पार्टी मेंबरशिप के लिए वेबसाइट (membership.inc.in) के बजाय ऑनलाइन मेंबरशिप के नाम से है. पार्टी की ओर से बकायदा इसको लेकर वेबसाइट के सही URL को मार्क करके दिखाया गया है.

 

दरअसल कांग्रेस के ऐप (with INC) पर आरोप था कि इसे मोबाइल पर स्टॉल करते हुए डेटा सिंगापुर स्थित सर्वर में पहुंच जाता है.

यही नहीं, एलियट एल्डरसन के नाम से एक ट्विटर हैंडल (@fs0c131y) ने एक ट्वीट के जरिये रविवार को दावा किया है कि कांग्रेस के ऐप से जुड़ी कुछ दिलचस्प जानकारी मुझे मिली है, डिटेल्स कल पब्लिश करूंगा.

साथ ही एल्डरसन ने आज सुबह एक और ट्वीट किया. जिसमें लिखा गया, ‘जब आप कांग्रेस के एंड्रॉयड ऐप पर सदस्यता के लिए आवेदन करते हैं तो आपकी निजी जानकारी membership.inc.in पर चली जाती है. जिसके बाद से कांग्रेस के गूगल प्ले स्टोर से (with INC) ऐप और पार्टी की वेबसाइट (membership.inc.in) गायब है.

You may also like

सड़क पर चलना हो जाएगा महंगा, पेट्रोल के बाद 14% तक चढ़ सकते हैं CNG के दाम!

सड़क पर चलने वालों के लिए बुरी खबर है.