पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में कहा थप्पड़ मारकर छीनो अपना अधिकार…

लखनऊ। आरक्षण कोई भीख नहीं अनुसूचित जाति-जनजाति और पिछड़ों के साथ किए गए पापों का प्रायश्चित है। आरक्षण आपके लिए ही है, अगर आपके इस अधिकार को कोई भी छीनने का प्रयास करे तो थप्पड़ मारकर अपना अधिकार छीन लो। पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय वीपी सिंह ने मंडल कमीशन की रिपोर्ट को लागू करके आरक्षण दिया। लाठी, डंडे, गोली चलीं, खून भी बहा लेकिन, उन्होंने मंडल कमीशन लागू किया। यह बातें राजस्थान के राज्यपाल व उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने कहीं। वह लोकबंधु वंचित वर्ग महासंघ की ओर से पूर्व प्रधानमंत्री स्व. वीपी सिंह के जन्मदिन पर पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे। पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में कहा थप्पड़ मारकर छीनो अपना अधिकार...

आपका हक छीन नहीं सकता 

सोमवार को लखनऊ में कार्यक्रम के संयोजक शंकरलाल लोधी ने कहा कि यह सिर्फ  कल्याण सिंह में ही क्षमता थी कि उन्होंने राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता काशी विद्यापीठ के पूर्व कुलपति अवध राम ने की। कार्यक्रम में समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, फर्रुखाबाद के सांसद मुकेश राजपूत, विधायक देवेंद्र लोधी, वीपी सिंह की दत्तक पुत्री सुनीता सिंह मौजूद रहे। कल्याण सिंह ने कहा कि दुर्भाग्यवश जब कभी आरक्षण खत्म करने की बारी आए तो एक मुट्ठी बांध कर खड़े हो जाना, देखना आपसे कोई भी आपका हक छीन नहीं सकता है। 

महिलाओं की कम भागीदारी पर जताई नाराजगी

कार्यक्रम में महिलाओं की कम संख्या पर कल्याण सिंह ने चिंता जताई। उन्होंने कहा कि किसी भी समाज को आगे बढ़ाने में महिलाओं की अहम भूमिका होती है। कार्यक्रम में इतनी कम संख्या में महिलाएं देखकर मैं दुखी हूं। महिलाओं को जरूर आगे बढ़ाने का प्रयास करें।

खोई गरिमा दिलाना सच्ची श्रद्धांजलि : सुनीता सिंह

वीपी सिंह की दत्तक पुत्री सुनीता सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह मुर्दाबाद के नारों के साथ कफन में दफन हुए थे। उनकी मौत हुई तो लोग मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे। आज वीपी सिंह की गरिमा को वापस लौटाने का समय है, उन्हें उनकी गरिमा लौटाकर सच्ची श्रद्धांजलि दी जाए।

राजवीर को उप मुख्यमंत्री बनाने की उठी मांग

पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में कल्याण सिंह के बेटे और भाजपा के सांसद राजवीर सिंह को प्रदेश सरकार में उप मुख्यमंत्री बनाने की मांग उठी।

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जवानों की हत्या को लेकर केजरीवाल ने PM मोदी से मांगा जवाब

बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह की शहादत के बाद