सिद्धू ने बादल परिवार का खोला राज़, बताया- 121 करोड़ रुपये…

चंडीगढ़। पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के परिवार ने पिछली अकाली-भाजपा सरकार के दौरान दस वर्षों में 121 करोड़ 15 लाख रुपये प्राइवेट हेलीकॉप्टर के किराये पर खर्च किए। यह राशि सिर्फ प्राइवेट हेलीकॉप्टर पर किए गए खर्च की है। सरकारी हेलीकॉप्टर पर सिर्फ तीन वर्षों के दौरान 7.27 करोड़ रुपये अलग से खर्च किए गए। वहीं, 37 करोड़ रुपये की लागत से खरीदा गया सरकारी हेलीकॉप्टर भी नियमों के विरुद्ध लिया गया। पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल हेलीकॉप्टर पर सफर के दौरान 500 रुपये भत्ता अलग से लेते रहे।सिद्धू ने बादल परिवार का खोला राज़, बताया- 121 करोड़ रुपये...

Loading...

यह खुलासा स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने विधायक संगत सिंह गिलजियां के बेटे दलजीत सिंह की ओर से आरटीआइ के अंतर्गत ली जानकारी के आधार पर किया है। सिद्धू ने आरोप लगाया कि पंजाब के राजनेताओं में बादल परिवार सबसे अमीर है, लेकिन संकीर्ण सोच के चलते उन्होंने पंजाब को काफी नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि कर्ज के बोझ तले दबे पंजाब की खराब वित्तीय हालत के बावजूद बादल परिवार ने पंजाब एवं पंजाब के कुदरती स्रोत बचाने की बजाय सूबे को कंगाल बना कर रख दिया और अपना कारोबार कई गुणा लाभ बढ़ा लिया।

अमेरिका यात्रा के बोर्डिंग पास नहीं

सिद्धू ने बताया कि आरटीआइ से मिली सूचना के अनुसार पूर्व सीएम की पत्नी सुरिंदर कौर बादल के कैंसर के इलाज के लिए अमेरिका स्थित मेमोरियल सलोन केटरिंग इंटरनेशनल सेंटर के दौरे (24 मार्च 2010 व 5 नवंबर 2010) के मुख्यमंत्री ने 7,97,354 रुपये यात्रा भत्ते के तौर पर वसूल किए। हैरानी की बात है कि दिल्ली से न्यूयॉर्क और न्यूयॉर्क के सफर की टिकटें और बोर्डिंग के पास ट्रेस नहीं हो सके। रिपोर्ट में स्पष्ट लिखा हुआ है कि सुरिंदर कौर बादल की विदेश यात्रा और इस पर आए खर्च की केवल रसीद भेजी गई है, जबकि एक्ट के अनुसार टिकटों के बोर्डिंग पास पेश करना जरूरी हैं।

गाडिय़ों के तेल पर खर्चे 13.31 करोड़

सिद्धू ने कहा कि मार्च 2012 से दिसंबर 2013 तक बादल ने 32 गाडिय़ों पर के तेल पर 8.22 करोड़ और सुखबीर बादल ने 19 गाड़ियों के तेल 5.9 करोड़ रुपये (कुल 13.31 करोड़ रुपये) खर्च कर दिए। एक सवाल के जवाब में सिद्धू ने माना कि मुख्यमंत्री को हेलीकॉप्टर इस्तेमाल करने का अधिकार है, लेकिन सरकारी हेलीकॉप्टर होने के बावजूद प्राइवेट हेलीकॉप्टर किराये पर क्यों लिया गया। दिल्ली, गुजरात, अहमदाबाद या मुंबई के लिए हवाई सेवाएं हैं। ऐसे में विमान से भी सफर किया जा सकता है।

तनख्वाह का बिल 1.54 लाख

सिद्धू ने कहा कि प्रकाश सिंह बादल सरकारी खजाने से तनख्वाह न लेने की बात करते रहे, जबकि उन्होंने अप्रैल 2016 की तनख्वाह का 1,54,000 रुपये का बिल भी दिखाया। सिद्धू ने कहा कि आने वाले दिनों में वह मीडिया के सामने कुछ और जानकारी रखेंगे कि कैसे बादल परिवार ने अपने ऐशो-आराम के लिए पंजाब को कर्जे में डुबोया।

कैप्टन ने अपने लिए नहीं, राज्यपाल व डीजीपी के लिए लिया किराये पर हेलीकॉप्टर

सिद्धू ने बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह समेत किसी भी मंत्री के लिए सरकार ने प्राइवेट हेलीकॉप्टर किराये पर नहीं लिया। 12 सितंबर 2017 को मुख्य सचिव व डीजीपी पंजाब के लिए डेरा सिरसा की गिरफ्तारी को लेकर पैदा हुई स्थिति पर नजर रखने के लिए चैलेंजर एविएशन से प्राइवेट हेलीकॉप्टर पर 21,26,197 लाख रुपये, राज्यपाल पंजाब के लिए 24 मार्च को किराये पर लिए हेलीकॉप्टर पर 5,96,888 रुपये और 27 व 28 मई को 10,61,408 लाख रुपये (कुल 37,85,493 रुपये) खर्च किए गए हैं।

Loading...

उज्जवलप्रभात.कॉम आप तक सटीक जानकारी बेहतर तरीके से पहुँचाने के लिए कटिबद्ध है. आप की प्रतिक्रिया और सुझाव हमारे लिए प्रेरणादायक हैं... अपने विचार हमें नीचे दिए गए फॉर्म के माध्यम से अभी भेजें...

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com