Home > राज्य > बिहार > शिवानंद तिवारी ने सीएम नीतीश से पूछे कई गंभीर सवाल, जवाब की मांग की

शिवानंद तिवारी ने सीएम नीतीश से पूछे कई गंभीर सवाल, जवाब की मांग की

पटना। बालिका गृह कांड पर राजद नेता शिवानंद तिवारी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कई सवाल पूछा है। उन्होंने पूछा कि नीतीश कुमार मुज़फ़्फ़रपुर बालिका गृह कांड पर कल जमकर बोले। लेकिन, खुलकर नहीं बहुत कुछ छुपा कर बोले।जैसे उन्होंने यह नहीं बताया कि ब्रजेश ठाकुर से उनका क्या और कैसा सम्बंध है?शिवानंद तिवारी ने सीएम नीतीश से पूछे कई गंभीर सवाल, जवाब की मांग की

उन्होंने कहा कि यह सवाल इसलिए उठता है क्योंकि नीतीश जी मुख्यमंत्री बनने के बाद ब्रजेश ठाकुर के पुत्र के जन्मदिन का केक काटने पटना से चलकर मुज़फ़्फ़रपुर गये थे। ब्रजेश ठाकुर के साथ नीतीश कुमार का राजनीतिक संबंध तो दिखाई नहीं दे रहा है। क्योंकि बताया गया है कि ब्रजेश ठाकुर नीतीश जी की पार्टी से नहीं बल्कि आनंदमोहन जी की पार्टी से जुड़े हुए थे।

ऐसे में मुख्यमंत्री द्वारा जन्मदिन जैसे नितांत घरेलू और पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पटना से मुज़फ़्फ़रपुर जाना ठाकुर के साथ उनके संबंध की प्रगाढ़ता को ही दर्शाता है। नीतीश जी से बिहार की जनता यह भी जानना चाहेगी कि ब्रजेश ठाकुर के यहां जाकर उनको कृतार्थ करने के बाद उनके यानी ठाकुर के अख़बारों को मिलने वाले विज्ञापनों में कितना इज़ाफ़ा हुआ। यह भी बताना चाहिए कि मुख्यमंत्री जी द्वारा ठाकुर के घर को पवित्र करने के बाद बालिका गृह की तरह  और कितने गृह के संचालन का ठेका ठाकुर को मिला।

बिहार की जनता यह भी जानना चाहती है मुज़फ़्फ़रपुर से मधुबनी के बालिका गृह में पहुंचाई गई लड़कियों में से एक लड़की मधु कैसे ग़ायब हो गई ! वह लड़की मुज़फ़्फ़रपुर बालिका गृह कांड की मुख्य गवाह है। एक साज़िश के तहत प्रचार किया जा रहा है कि वह गूंगी थी। जबकि वह गूंगी नहीं, तुतलाकर बोलती है। लोग आशंका व्यक्त कर रहे हैं कि कहीं उसकी हत्या तो नहीं कर दी गई है।

मुख्यमंत्री जी को बिहार की जनता को यह भी बताना चाहिए कि मधुबनी बालिका गृह का संचालन करने वाली महिला कौन है ? उसके पति का नीतीश कुमार के ख़ासम-ख़ास संजय झा के साथ क्या सम्बंध है ? उस महिला को मधुबनी में बालिका गृह संचालन करने का ठेका कब मिला? यानि नीतीश सरकार बनने के बाद या उसके पहले से उसका संचालन हो रहा था।

वह महिला सिर्फ़ मधुबनी में ही बालिका गृह का संचालन कर रही है या अन्यत्र भी उसको ऐसा काम मिला हुआ है ? संजय झा से जुड़े लोगों का बिहार में कहां-कहां ऐसे गृहों के संचालन का काम मिला हुआ है ? नीतीश सरकार को यह भी बताना चाहिए कि बिहार में इस तरह के कितने गृह संचालित हो रहे हैं। उनका संचालन करने वाले कौन लोग हैं? यह काम उनको नीतीश सरकार के समय मिला या इसके पूर्व से यह काम वे कर रहे हैं।

बिहार की जनता यह भी जानना चाहती है कि मुख्यमंत्री जी द्वारा सरकार के अलग-अलग विभागों की अनेकों मर्तबा समीक्षा की गई है। मुख्यमंत्री जी की समीक्षा बैठकें सिर्फ़ राजधानी के मुख्यालय में ही नहीं हुई है। बल्कि बिहार के प्रत्येक जिलों में राज्य के आला अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री जी समीक्षा बैठक कर चुके हैं. क्या वजह है कि इतनी समीक्षा बैठकों के बाद भी नीतीश जी जैसे क़ाबिल और सक्षम मुख्यमंत्री को संपूर्ण बिहार के बालिका गृहों में बालिकाओं के साथ हो रही दरिंदगी की भनक तक नहीं लगी !

हम उम्मीद करते हैं की नीतीश जी बिहार की जनता की इन शंकाओं का समाधान करने हेतु स्पष्टीकरण देंगे. उनको हम स्मरण कराना चाहेंगे कि राजा का इमानदार होना ही पर्याप्त नहीं है बल्कि उसको इमानदार दिखना भी चाहिए. इस पुरे प्रकरण में नीतीश इमानदार नहीं दिखाई दे रहे हैं.

Loading...

Check Also

महागठबंधन में शामिल होने के लिए शिवपाल यादव ने रखी बेहद कड़ी शर्त...

महागठबंधन में शामिल होने के लिए शिवपाल यादव ने रखी बेहद कड़ी शर्त…

प्रगतिशील समाजवादी के संरक्षक शिवपाल सिंह यादव ने 2019 के चुनाव में यूपी में संभावित …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com