भारत की नेपाल से आस्था, अस्मिता और अपनेपन की साझेदारी: PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत और नेपाल के बीच आस्था, अस्मिता और अपनेपन की ऐतिहासिक साझेदारी है, ये हमारी अटूट शक्ति है. उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद नेपाल के प्रधानमंत्री ने उन्हें फोन किया, जिसके लिए उन्होंने नेपाल के पीएम का आभार जताया.भारत की नेपाल से आस्था, अस्मिता और अपनेपन की साझेदारी: PM मोदी

काठमांडू में पशुपतिनाथ धर्मशाला का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कि भारत और नेपाल के बीच शिव भक्ति और शिव भक्तों का संबंध बेहद मजबूत है. उन्होंने कहा कि भगवान पशुपतिनाथ का ये प्रार्थना स्थल आस्था के अनेक केंद्रों से जुड़ा हुआ है, भारत और नेपाल के बीच शिव भक्ति ने एक सेतु बनाया है जो वर्षों पुराना है. पीएम मोदी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के समय नेपाल दुःख की उस घड़ी में भारत के साथ खड़ा रहा. जिसके लिए मैं धन्यवाद देना चाहता हूं.  

कई नेताओं से मिले प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री मोदी चौथे बिम्स्टेक सम्मेलन में शामिल होने के लिए काठमांडू पहुंचे हुए हैं. इससे पहले बिम्स्टेक सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को थाईलैंड, म्यामांर और भूटान के नेताओं से अलग-अलग द्विपक्षीय मुलाकातें की. उन्होंने थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान ओचा, म्यामांर के राष्ट्रपति विन मिन्त और भूटान की अंतरिम सरकार के मुख्य सलाहकार दाशो शेरिंग वांगचुक से बातचीत की. मोदी ने ट्वीट किया, ‘प्रयुत चान-ओचा और मेरी मुलाकात अच्छी रही. हमारा ध्यान हमारे नागरिकों के परस्पर लाभ के लिए भारत और थाईलैंड के बीच सहयोग बढ़ाने पर केंद्रित था.’

दोनों नेता चौथे बंगाल की खाड़ी बहु-क्षेत्रीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग पहल (बिम्स्टेक) सम्मेलन में शामिल होने के लिए यहां आए हैं. प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘थाईलैंड के प्रधानमंत्री श्री प्रयुत चान ओचा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच काठमांडो में फलदायी बातचीत हुई. उनकी वार्ता भारत और थाईलैंड के बीच द्विपक्षीय सहयोग मजबूत करने पर केंद्रित थी.’

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दोनों ने द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने पर चर्चा की. मोदी ने म्यामांर के राष्ट्रपति विन मिन्त से भी मुलाकात की और द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के तरीकों पर बात की. मोदी ने ट्वीट किया, ‘हमारी चर्चा व्यापार, ऊर्जा और कई अन्य क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर केंद्रित थी.’

प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि दोनों नेताओं ने भारत और म्यामांर के बीच सहयोग की रफ्तार तेज करने पर चर्चा की.  रवीश कुमार ने कहा कि दोनों नेताओं की बताचीत विकास सहयोग, ऊर्जा और अन्य क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग पर केंद्रित थी. मोदी ने भूटान की अंतरिम सरकार के मुख्य सलाहकार दाशो शेरिंग वांगचुक से भी मुलाकात की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लोअर पीसीएस-2015 के चयनितों को चार माह बाद भी नियुक्ति का इंतजार – राघवेन्द्र प्रताप सिंह

लखनऊ। एक ओर जहाँ सूबे की योगी आदित्यनाथ