दून में आज बांग्लादेश और अफगानिस्तान के बीच दूसरा टी-20 मैच

- in उत्तराखंड, राज्य

देहरादून: टी-20 सीरीज के पहले मुकाबले में अफगानिस्तान के हाथों मिली हार के बाद आज बांग्लादेश के सामने करो या मरो की स्थिति होगी। तीन मैचों की इस सीरीज को बचाने के लिए बांग्लादेश को हर हाल में मैच जीतना होगा, नहीं तो एक मैच शेष रहते ही ट्रॉफी पर अफगानिस्तान का कब्जा हो जाएगा। आज राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में मैच रात आठ बजे शुरू होगा। दून में आज बांग्लादेश और अफगानिस्तान के बीच दूसरा टी-20 मैच

इससे पहले अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दोनों टीमों के बीच टी-20 मुकाबला 2014 के विश्व कप में खेला गया था। इसमें बांग्लादेश ने अफगानिस्तान को नौ विकेट से शिकस्त दी थी। तब से अब तक अफगानिस्तान की टीम मजबूत हो चुकी है। रविवार को उन्होंने यह मैदान पर जीत के साथ साबित कर दिया। वहीं पहले मुकाबले में अफगानिस्तान ने बांग्लादेश को 45 रनों से शिकस्त देकर विश्व कप की हार बदला भी ले लिया और 1-0 से सीरीज में बढ़त भी बना ली 

मैच में अफगानिस्तान की गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों ही शानदार रही। बांग्लादेशी टीम अफगानिस्तान से ज्यादा अनुभवी हैं लेकिन मैच के दौरान अफगानिस्तान के खिलाड़ि‍यों ने जो जज्बा दिखाया वह बांग्लादेश टीम के अनुभव पर भारी पड़ा। बांग्लादेश को अगर सीरीज में वापसी करनी है तो बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों क्षेत्रों में सुधार करना होगा।

इसलिए सोमवार सुबह ही बांग्लादेश के कुछ खिलाडिय़ों ने मैदान पर अभ्यास किया। शाम को बांग्लादेश की पूरी टीम प्रैक्टिस सेशन के लिए मैदान पर उतरी। टीम के कोच भी खिलाड़ि‍यों को टिप्स देते नजर आए। क्योंकि, जितना दबाव खिलाड़ि‍यों पर है, उतना ही कोच पर भी। अगर बांग्लादेश की टीम मैच जीतती है तो अंतिम मुकाबला निर्णायक और रोमांचक रहेगा।  

पिच का मिजाज समझ चुकी अफगानिस्तानी टीम 

राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम को अफगानिस्तान ने अपना होम ग्राउंड बनाया है। टीम 18 मई को ही दून पहुंच गई थी। इसके बाद मैदान पर खूब अभ्यास और कई प्रैक्टिस मैच भी खेले। जबकि, बांग्लादेश की टीम पांच दिन पहले ही यहां पहुंची थी। ऐसे में अफगानिस्तान के खिलाड़ी पिच के मिजाज को भली-भांति समझ चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या मामले में इसी हफ्ते आ सकता है ये बड़ा फैसला

अयोध्या राम जन्मभूमि मामले से जुड़े एक अहम केस में