वाराणसी : गंगा तट पर बिखरी लोककला व संस्कृति की सुगंध

- in उत्तरप्रदेश

वाराणसी : डा. राजेंद्र प्रसाद घाट पर रविवार शाम झारखंड की लोककला व संस्कृति की सुगंध बिखरी। ‘भारत आनंद, काशी आनंद’ उत्सव देर शाम तक परवान चढ़ता रहा। आरपी घाट के खुले मंच पर झारखंड के सरायकेला से आए कलाकारों ने छऊ नृत्य व रासलीला में अपने सशक्त अभिनय से दर्शकों को बांधे रखा।वाराणसी : गंगा तट पर बिखरी लोककला व संस्कृति की सुगंध

– हर पार्वती-शिव पार्वती नृत्य से आगाज

‘काशी आनंद’ उत्सव का आगाज सांस्कृतिक संस्था ‘थाप’ के बैनर तले कलाकारों ने ‘हर पार्वती-शिव पार्वती’ नृत्य से किया। पार्वती की भूमिका में मनोरंजन महतो ने अपनी विशिष्ट प्रतिभा को उजागर किया। राज दरबार में गौरी पूजा धुन पर नृत्य की विभिन्न मुद्राएं दर्शकों को भरपूर रास आई। नृत्य का निर्देशन बांसुरी पर शिव हेस्सा ने किया। ढोल पर निरंजन महतो व लखिंदर महतो तथा नगाड़े पर भीम सेन महतो ने कुशल संगत की।

– रात आरती ने दर्शकों को बांधा

उत्सव में रात की आरती दर्शकों को खूब रास आया। रथ की भूमिका में बिमल महतो तथा चांद की आरती करने में सुनील महतो ने सशक्त प्रस्तुति दी। कलाकारों ने अभिनय से झारखंड के आदिवासी क्षेत्रों में रथ पर सवार होकर चांद की आरती करने का महात्म्य बखूबी दर्शाया।

– मंच पर साकार हुआ आजादी का जश्न

अपनी तीसरी प्रस्तुति में कलाकारों ने भारत की आजादी के जश्न को खूबसूरत अंदाज में तिरंगे के साथ पेश किया। भारत माता की भूमिका में मनोरंजन महतो ने सशक्त अभिनय कर वाहवाही लूटी।

– होली नृत्य में रासलीला की छौंक

आदिवासी बाहुल्य इलाकों में रंगोत्सव के पर्व होली की धूम को कलाकारों ने रासलीला में अपने अभिनय से दर्शाया। भगवान श्रीकृष्ण की भूमिका में सनातन हेस्सा, राधा के किरदार में विमल महतो, सखी की भूमिका में सुनील महतो, मंगल महतो, विशाल सोय, लखविंदर महतो ने सशक्त भूमिका निभाई।

– खूब रास आया महिषासुर मर्दिनी

कलाकारों ने उत्सव का समापन ‘महिषासुर मर्दिनी’ के मंचन से किया। महिषासुर की भूमिका में सुदर्शन महतो रहे। इसमें भाग लेने वाले अन्य कलाकारों में राम मार्डी, शिव हेस्सा, लखिन्दर महतो, निरंजन महतो, हरि महतो, लखीराम हेस्सा, बिमल महतो, सुनील महतो, विशाल सोय, मनोरंजन महतो, बुद्धू हेम्ब्रम, कृष्णा महतो, लक्ष्मण महतो, गोविंदो महतो, बुधेश्वर महतो व हीरा मार्डी ने खूबसूरत अंदाज में नृत्य पेश कर काशी आनंद उत्सव को ऊंचाई दी। कोरियोग्राफी रामचंद्र मार्डी की रही।

समापन पर मुख्य अतिथि यूनियन बैंक ऑफ इंडिया गिरजाघर शाखा के मुख्य प्रबंधक रणवीर सिंह, विशिष्ट अतिथि ‘थाप’ संस्था के संरक्षक रमेश चंद्र श्रीवास्तव व संस्थापक अध्यक्ष अवनीश श्रीवास्तव ने कलाकारों को प्रशस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित किया। संगीत संध्या का संचालन राजेश त्रिपाठी ने, संयोजन मनीष श्रीवास्तव व दिलीप टोपी ने, निर्देशन शिव हेस्सा ने तथा आभार प्रकाश पं. काशी मिश्र ने किया। उत्सव के आयोजन में गीतकार कन्हैया दुबे केडी व राजू चौधरी ने सहयोग दिया।

इस दौरान ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स की अधिकारी रश्मि श्रीवास्तव, निशा सिंह, आंचल सिंह, सुरभि सुंदरी व अपूर्वज सिंह ने कलाकारों का उत्साहव‌र्द्धन किया।

पर्यटकों ने की वीडियोग्राफी

भारत आनंद-काशी आनंद उत्सव के दौरान लोककला व संस्कृति को कैमरे में कैद करने में तल्लीन रहे दर्शक। गंगा तट पर आए बड़ी संख्या में देसी-विदेशी सैलानियों ने उत्सव का आनंद लिया। कलाकारों की प्रस्तुतियों को भरपूर सराहा।

कलाकारों को मिला सशक्त मंच

म ख्य अतिथि यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के मुख्य प्रबंधक रणवीर सिंह ने भारत आनंद-काशी आनंद की सराहना करते हुए कहा कि ‘दैनिक जागरण’ के प्रयास से गंगा तट पर विभिन्न प्रांतों की लोककला व संस्कृति की अनुपम छटा बिखर रही है। नवोदित प्रतिभाओं को सशक्त मंच भी मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

CM योगी का तीखा वार: कहा- अखिलेश की हालत ‘मान ना मान, मैं तेरा मेहमान’ वाली

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा ने सपा प्रमुख