सलमान नदवी ने बनाया अपना बोर्ड, अयोध्या में मस्जिद बनाने पर कही ये बात

- in राष्ट्रीय

नई दिल्ली: ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) से निकाले गए सलमान हुसैन नदवी ने गुरुवार (8 मार्च) को मानवता कल्याण बोर्ड की स्थापना की. लखनऊ में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नदवी ने इस बारे में जानकारी दी. उन्होंने कहा कि देश में ऐसा एक भी संगठन नहीं है जिसमें सभी धर्म के लोग शामिल हों और इसीलिए उन्होंने मानवता कल्याण बोर्ड की नींव रखी है. नदवी ने आजादी के बाद देश में हुए दंगों का जिक्र करते हुए कहा कि वर्तमान में जरूरत इस बात की है कि लोगों को मानवता की सीख दी जाए. सलमान नदवी ने कहा कि उनके बोर्ड का ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से कोई मतलब नहीं है. उन्होंने पर्सनल लॉ बोर्ड को सिर्फ मियां ​बीवी के मामले देखने वाला करार दिया.

सलमान नदवी ने बनाया अपना बोर्ड, अयोध्या में मस्जिद बनाने पर कही ये बात

मानवता कल्याण बोर्ड पर बात करते हुए नदवी ने बताया कि पूर्व मुख्य जज को इस बोर्ड का अध्यक्ष बनाया जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस बोर्ड में हर धर्म के लोगों को न सिर्फ शामिल किया जाएगा, बल्कि अहम जिम्मेदारी भी दी जाएगी. राम मंदिर विवाद पर सलमान नदवी ने अयोध्या में मस्जिद बनाने की वकालत की, लेकिन उन्होंने कहा कि मस्जिद का नाम बाबर के नाम से हो यह जरूरी नहीं. नदवी ने इस बात पर जोर दिया कि नौजवानों को मज़हब की जानकारी होना बहुत अहम है.

सिंगापुर में बरसे राहुल गांधी ने कहा- ध्रुवीकरण की राजनीति देश के लिए खतरनाक

एआईएमपीएलबी से निकाले गए सलमान नदवी
ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) ने रविवार (11 फरवरी) को ऐलान किया था कि मौलाना सलमान हुसैन नदवी अब उसके सदस्य नहीं हैं. नदवी ने बाबरी मस्जिद मामले में बोर्ड से अलग रुख अपनाया था. बोर्ड ने हैदराबाद में अपनी तीन दिवसीय बैठक के अंतिम दिन नदवी के बोर्ड से ‘अलग होने’ पर मुहर लगाई थी. इस्लामी धर्मगुरु नदवी ने आध्यात्मिक नेता श्री श्री रविशंकर से मुलाकात के बाद बीते 10 फरवरी को कहा था कि अयोध्या में जिस जगह 1992 तक बाबरी मस्जिद थी, उसे राम मंदिर के निर्माण के लिए दिया जा सकता है.

You may also like

आधार की वैधता पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को सुनाएगा फैसला

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट बुधवार को आधार की वैधता पर