अभी अभी: आरोपी JNU प्रोफेसर अतुल जौहरी गिरफ्तार, पटियाला हाउस अदालत में किया जाएगा पेश

दिल्ली की जवाहर लाल यूनिवर्सिटी (JNU) में यौन उत्पीड़न के आरोपी प्रोफेसर अतुल जौहरी को मंगलवार को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद पूछताछ की. इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. अब उन्हें पटियाला हाउस अदालत में पेश किया जाएगा.

जौहरी पर जेएनयू की कई छात्राओं ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं. इस मामले में मंगलवार को 8 छात्राओं ने अपने बयान पटियाला हाउस कोर्ट में दर्ज कराए. इससे पहले मंगलवार को जेएनयू के छात्रों ने वसंतविहार पुलिस स्टेशन के सामने विरोध प्रदर्शन किया था. पुलिस ने उचित कानूनी कार्रवाई का आश्वासन दिया था. इसके बाद पुलिस ने प्रोफेसर पर 8 FIR दर्ज की थीं.

17 छात्रों के खिलाफ FIR

इस मामले में जेएनयू के छात्रों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है. छात्र संघ की अध्यक्ष गीता कुमारी, उपाध्यक्ष जोया खान और अन्य छात्रों के खिलाफ डीन के ऑफिस में हंगामा करने के आरोप में एफआईआर दर्ज हुई हैं. ये एफआईआर प्रोफेसर उमेश अशोक कदम ने दर्ज करवाई है, उनका कहना है कि छात्र ज़बरदस्ती उनके दफ्तर में घुस आए थे. उन्होंने बताया कि छात्रों ने डीन को बंधक बना लिया था. इस एफआईआर में गीता समेत कुल 17 छात्रों के नाम हैं.

क्या है मांग?

 

जेएनयू के छात्र और शिक्षक चाहते हैं कि जौहरी के खिलाफ कार्रवाई हो. उन्हें नौकरी से बर्खास्त किया जाए. आरोपी प्रोफेसर के खिलाफ सोमवार शाम को जेएनयू के छात्र वसंत कुंज थाने के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में पीड़ित छात्राओं का बयान दर्ज किया है. शिक्षकों ने प्रोफेसर जौहरी के खिलाफ दिल्ली पुलिस से भी शिकायत की है.

जेटली को नहीं मंजूर केजरीवाल की माफी!, AAP ने कहा- स्वीकार नहीं तो ठीक

क्यों हो रहा प्रदर्शन?

आरोपी प्रोफेसर के खिलाफ जेएनयू परिसर में पिछले कुछ दिनों से छात्राएं प्रदर्शन भी कर रही हैं. प्रोफेसर अतुल जौहरी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में लाइफ साइंस पढ़ाते हैं. आरोप है कि प्रोफेसर अतुल क्लास के दौरान छात्राओं के साथ अश्लील बातें और छेड़खानी करते थे. इसी के चलते उनके खिलाफ जेएनयू के कई छात्राएं पिछले 4 दिनों से कैंपस में प्रदर्शन कर रही थीं.

क्या बोले प्रोफेसर जौहरी?

इसके बाद जेएनयू की करीब 7 छात्राओं की शिकायत के आधार पर वसंत कुंज नार्थ पुलिस स्टेशन में धारा 354 और 509 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है. उधर, आरोपी प्रोफेसर अतुल का कहना है कि उनके खिलाफ शिकायत करने वाली छात्राओं की अटेंडेंस क्लास में कम है. इसलिए वे कार्रवाई से बचने के लिए इस तरह के आरोप लगा रही हैं. फिलहाल, पुलिस की जांच जारी है.

You may also like

रिपोर्ट के मुताबिक, कैंसर की सबसे बड़ी वजह है ये एक चीज

कैंसर के खतरे के मामले में मोटापा अब