Home > राज्य > पंजाब > खैहरा का साथ न देने पर विधायक रूबी के बायकॉट की हुई घोषणा

खैहरा का साथ न देने पर विधायक रूबी के बायकॉट की हुई घोषणा

बठिंडा। सुखपाल सिंह खैहरा को विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के पद से हटाने और बठिंडा में हुई आप वॉलंटियर्स की कन्वेंशन में पारित किए प्रस्तावों के तहत खैहरा का साथ न देने वाले विधायकों के बायकॉट करने का असर दिखाई देने लगा है। शनिवार को बठिंडा देहाती के अधीन गांव देयोण की आप इकाई ने विधायक रुपिंदर कौर रूबी के बायकाट का एलान कर दिया है।खैहरा का साथ न देने पर विधायक रूबी के बायकॉट की हुई घोषणा

बीते शनिवार को गांव में हुई आप ईकाई की बैठक के दौरान वरिष्ठ नेता जरनैल सिंह तथा सरदूल सिंह ने आरोप लगाया कि रूबी ने कुर्सी के लिए राज्य के लोगों के साथ धोखा किया है। रूबी ने पहले पंजाब की भलाई के लिए खैहरा का साथ देने का ऐलान किया था, लेकिन बाद में पीछे हट गईं।

हालांकि विधानसभा चुनाव के दौरान रूबी ने लोगों से वादा किया था कि वह पंजाब की भलाई के लिए अपना प्रत्येक फैसला वालंटियर्स से सलाह मशविरा करके करेंगी। अब राज्य के आप वालंटियर दिल्ली के पार्टी नेताओं से नाराज हैं, लेकिन इसमें रूबी साथ नहीं दे रही हैं। नेताओं ने रूबी के बायकॉट का एलान करते हुए कहा कि अगर उसने सुखपाल खैहरा का साथ नहीं दिया तो वह उन्हें अपने गांव में घुसने नहीं देंगे।

बता दें, सोशल मीडिया पर दिल्ली के नेताओं का साथ देने वाले विधायकों को आप वालंटियर्स की तल्ख टिप्पणियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं गांवों में भी आप इकाइयों की ओर से विरोध के प्रस्ताव डलने लगे हैं। कुछ दिन पहले लोग आप विधायक सरबजीत कौर माणूके तथा कुलवंत सिंह पंडोरी के खिलाफ अपने गुस्से का प्रकटावा कर चुके हैं। इन दोनों के खिलाफ संबंधित विधानसभा क्षेत्रों में पुतला फूंक प्रदर्शन हो चुके हैं।

वहीं अब बठिंडा देहाती हलके से आप विधायक रुङ्क्षपदर कौर रूबी के खिलाफ भी लोग सामने आने लगे हैं। उनके प्रति भी ऐसी ही स्थिति बनती नजर आ रही है। उल्लेखनीय है कि विधायक रूबी प्रतिपक्ष पद से हटाए जाने के बाद सुखपाल खैहरा के हक में खड़ी हुई थी, लेकिन बाद में वह खैहरा का साथ छोड़ गईं।

दिल्ली का साथ देने वाले पंजाब विरोधी

सोशल मीडिया पर आप वालंटियर्स की ओर से दिल्ली नेताओं का साथ देने वाले विधायकों को पंजाब विरोधी करार दिया जा रहा है। आप वालंटियर्स का कहना है कि खैहरा जिस तरह से बेबाकी के साथ मुद्दे उठा रहे हैं, उससे दिल्ली के नेता डरे हुए हैं। इसी कारण उनका कद छोटा करने के लिए उन्हें नेता प्रतिपक्ष के पद से हटाया गया है। सोशल मीडिया पर आप वालंटियर कन्वेंशन में शामिल न होने वाले विधायकों के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दावली का भी खुलकर प्रयोग हो रहा है।

Loading...

Check Also

बड़ा खुलासा: सिर्फ दो फीसद हिस्से में सबसे ज्यादा प्रदूषित है यमुना

बड़ा खुलासा: सिर्फ दो फीसद हिस्से में सबसे ज्यादा प्रदूषित है यमुना

नई दिल्ली। यमुना नदी के महज दो फीसद हिस्से में नदी का 76 फीसद प्रदूषण समाया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com