कर्नाटक: 3 बसों में सवार होकर हैदराबाद पहुंचे JDS-कांग्रेस के विधायक

कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए जोड़तोड़ जारी है. बीएस येदियुरप्पा जहां सीएम पद की शपथ ले चुके हैं वहीं कांग्रेस और जेडीएस ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त की कोशिशों का आरोप लगाया है. विधायकों को बचाने के लिए उन्हें बेंगलुरु के रिजॉर्ट से आधी रात को निकालकर बस से हैदराबाद के लिए रवाना किया गया. रात 12 बजे दोनों दलों के विधायकों को लेकर 3 बसें बेंगलुरू से हैदराबाद के लिए चली जो सुबह 9 बजे पहुंची.

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस और जेडीएस के विधायक पार्क हयात होटल पहुंचे थे, लेकिन वहां सभी के लिए कमरे उपलब्ध नहीं थे. ऐसे में कुछ को ताज कृष्णा होटल में शिफ्ट किया गया है.

वरिष्ठ विधायक बेंगलुरु में ही रखे गए

हैदराबाद लाए गए कांग्रेस विधायकों में ज्यादातर नव निर्वाचित विधायक हैं. पार्टी के वरिष्ठ नेता कर्नाटक में ही अपने आवास पर हैं, पार्टी ने वरिष्ठ नेताओं पर विश्वास जताया है. कांग्रेस सूत्रों के अनुसार पार्टी का मानना है कि वरिष्ठ नेता पार्टी के प्रति वफादारी दिखाएंगे. रामलिंगा रेड्डी, शमनुर शिवशंकरप्पा सहित कई वरिष्ठ कांग्रेस विधायक अपने घर पर हैं.

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस विधायकों के साथ ही हैदराबाद जा रहे जेडीएस विधायकों की बस भी करनूल से आगे निकल गई है.

कई विधायकों को लेकर सस्पेंस

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पार्टी के दो लापता विधायकों राजशेखर पाटिल और प्रताप गौड़ा पाटिल ने पार्टी के शीर्ष नेताओं से संपर्क किया है. कांग्रेस नेताओं ने दावा किया है कि मैसूर क्षेत्र के कुछ बीजेपी विधायक उनके संपर्क में हैं.

फिर लौटा आंधी-तूफान, अलर्ट पर दिल्ली

मंगलवार तक कांग्रेस के विधायक बेंगलुरु के ईगलटन रिजॉर्ट में रुके हुए थे, बाद में पार्टी ने इन्हें हैदराबाद भेजने का फैसला किया. एक तरफ कांग्रेस विधायकों ने रिजॉर्ट छोड़ा तो वहीं जेडीएस विधायकों ने भी अपना होटल छोड़ दिया.

इससे पहले मंगलवार को दिन में कर्नाटक में मौजूद सीनियर कांग्रेस नेताओं गुलाम नबी आजाद, अशोक गहलोत ने जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी के साथ ईगलटन रिजॉर्ट में लंबी मीटिंग की. बैठक में पूर्व सीएम और कांग्रेसी नेता सिद्धारमैया भी मौजूद रहे.

जेडीएस के नेता कुमारस्वामी ने कहा कि विधायकों की खरीद फरोख्त को रोकने के लिए हम विधायकों को बेंगलुरु से बाहर भेज रहे हैं. जेडीएस और कांग्रेस के विधायक एक ही जगह साथ रहेंगे.

कांग्रेस को उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट बहुमत साबित करने के समय को घटाएगा, इसलिए वह रिजॉर्ट छोड़ रहे हैं. अब वह सीधे वोट डालने के लिए ही आएंगे.

कांग्रेस विधायकों के लिए फ्लाइट की भी परमिशन नहीं

बेंगलुरु में मौजूद कांग्रेस की विधायक यशोमती ठाकुर का कहना है कि उनसे सारी पुलिस सुरक्षा वापस ले ली गई है. हमारे विधायकों को धमकी भरे फोन आ रहे हैं, फ्लाइट की भी परमिशन नहीं मिल रही है, क्या हम सच में लोकतंत्र में रह रहे हैं.

रिजॉर्ट में घुस गए थे बीजेपी नेता

कांग्रेस नेता रामलिंगा रेड्डी ने आरोप लगाया है कि कुछ बीजेपी नेता रिजॉर्ट में आ गए थे और विधायकों से बातचीत करने की कोशिश कर रहे थे. यही कारण है कि वह रिजॉर्ट छोड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह किसी भी तरह की सुरक्षा नहीं लेंगे. उन्होंने बताया कि जो दो विधायक अभी यहां पर नहीं हैं वह हमारे टच में हैं.

राहुल ने की देवगौड़ा से बात

कर्नाटक में लगातार बदलती परिस्थिति को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा से बात की है. बताया जा रहा है कि दोनों के बीच करीब 10 मिनट बातचीत हुई.

कांग्रेसी आनंद सिंह ने छोड़ा पार्टी का साथ

इस बीच सूत्रों की मानें तो कांग्रेस विधायक आनंद सिंह अब पार्टी का साथ छोड़ चुके हैं. आनंद सिंह ने इस बारे में पार्टी को भी कह दिया है. हालांकि, आनंद सिंह बीजेपी के साथ नहीं जाएंगे, लेकिन अपने पद से इस्तीफा दे देंगे. साफ है कि अगर आनंद सिंह इस्तीफा देंगे, तो फिर बहुमत के आंकड़े के लिए संख्या में थोड़ा फेरबदल हो सकता है.

DGCA से नहीं मिली परमिशन

बताया जा रहा है कि कांग्रेस के विधायक प्राइवेट प्लेन के जरिए किसी पड़ोसी राज्य में शिफ्ट होने की सोच रहे थे, लेकिन उन्हें DGCA (Directorate General of Civil Aviation) ने परमिशन नहीं दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आज का राशिफल और पंचांग: 20 जुलाई दिन शुक्रवार, जानिए किसपर रहेगी माँ संतोषी की नजर

।।आज का पञ्चाङ्ग।। आप सभी का मंगल हो 20