50 देशों के प्रतिनिधि पहुंचे रोहतक में एग्रो समिट में उमड़े देशभर के किसान

- in राज्य, हरियाणा

रोहतक। यहां किसानों के कुंभ एग्रो लीडरशिप समिट की शुरूआत हाे गई है। इसमें हरियाणा और अन्‍य राज्‍यों के हजारों किसान पहुंचे हैं। इसमें करीब 50 देशों के प्रतिनिधि भी भाग ले रहे है। केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री पुरुषोतम रूपाला ने कहा कि हरियाणा कृषि उत्पादों के निर्यात की पहल करे। 2022 तक किसानों की आय डेढ़ गुणा करने का लक्ष्य राज्यों के सहयोग के बिना नहीं प्राप्त हो सकता। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि किसानों के लिए बेहतर नीतियां बनाई गई हैं। यहां अायाेजित एग्रो लीडरशिप समिट में दोनों नेताआें ने प्रगतिशील किसानों को सम्‍मानित किया। शिखर सम्‍मेलन में भारी संख्‍या में किसान उमड़े हैं।

50 देशों के प्रतिनिधि पहुंचे रोहतक में एग्रो समिट में उमड़े देशभर के किसानमुख्‍यमंत्री मनोहर लाल व केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री पुरुषोतम रूपाला ने प्रगतिशील किसानों को सम्‍मानित किया

यहां अायाेजित एग्रो लीडरशिप समिट का मुख्यमंत्री मनोहर लाल और केंद्रीय कृषि राज्‍य मंत्री पुरुषोतम रूपाला ने शुभारंभ किया। यह तीसरा कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन शनिवार से रोहतक में गोहाना रोड पर शुरू हुआ। इसका आयोजन 30 एकड़ क्षेत्र में किया गया है। सम्मेलन में प्रदेश के उद्यमशील किसानों व पशुपालकों को सरकार की ओर से सम्मानित किया गया। सम्‍मेलन में भारी संख्‍या में किसान पहुंचे हैं।

एग्रो समिट में आयोजित स्‍पर्धा में अपना पशु लेकर आए किसान।

इस मौके पर किसानों की ओर से ही स्टालें भी लगाई गई हैं। सीएम और केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री पुरुषोतम रूपाला ने कहा कि हरियाणा के किसानों के‍ लिए दिल्ली में फल सब्जी और फूल का बाजार उपलब्ध करवाएंगे। मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल ने पिछली भूपेंद्र सिंह हुड्डा सरकार पर जमकर हमला किया। उन्‍होंने कहा कि हुड्डा सरकार ने अपेन शासन के 10 साल में किसानों के लिए कुछ नहों किया।

समिट में एक किसान को सम्‍मानित करते मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल।

मनोहरलाल ने कहा कि किसान की आय को बढ़ाने के हर संभव प्रयास सरकार कर रहे हैं। किसान के हाथ में लागत और मूल्य तय करना दोनों नहीं है। किसान के उत्पाद पर सबसे ज्यादा जोखिम होता है और ऐसे में हम उनकी चिंता कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा, हम किसानों को जोखिम फ्री बनाने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं। राज्‍य में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में आठ फसलें कवर की गई हैं।

उन्‍हाेंने कहा कि किसान की भलाई के लिए भावन्तर योजना लागू की गई है। इससे किसानों का खेती में जोखिम कम होगा। किसानों की जोत छोटी होती जा रही है। यह चिंताजनक है। हम योजना बना रहे हैं कि किसान मिलकर पांच और दस एकड़ की जोत बनाएं और फसलें बोएं।

हरियाणा कृषि उत्‍पादों के निर्यात में पहल करे : केंद्रीय मंत्री रुपाला

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री पुरुषोतम रूपाला ने कहा कि 2022 तक किसानों की आय डेढ गुणा करने का लक्ष्य राज्यों के सहयोग के बिना नहीं प्राप्त हो सकता। हरियाणा कृषि उत्पादों के निर्यात की पहल करे। तीन दिवसीय किसान शिखर सम्मेलन को प्रदेश भाजपाध्यक्ष सुभाष बराला ने भी संबोधित किया।

कई देशों के संग-संग विभिन्‍न संगठनो के प्रतिनिधि भी ले रहे हैं भाग

सम्‍मेलन में रूस, जाम्बिया, स्पेन, न्यूजीलैंड, कनाडा, नामीबिया, जर्मनी, उज़्बेकिस्तान, जॉर्जिया, बेल्जियम, इथियोपिया, नीदरलैंड, मंगोलिया और नेपाल सहित 50 देशों के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। इसके साथ-साथ आईएफएडी (यूएन) से विशेष अतिथि, वाणिज्य और उद्योग के ब्रिक्स चैम्बर्स, नेशनल इंस्टीट्यूट खाद्य प्रौद्योगिकी उद्यमिता और प्रबंधन (एनआईएफटीईएम), एशियाई विकास बैंक (भारतीय निवासी मिशन) के प्रतिनि‍धि भी भाग लग रहे हैं।

सम्‍मेलन में भाग लेते प्रगतिश्‍ील किसान।

इसके साथ ही भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (सीआईआई फेस), राष्ट्रीय कोल्ड चेन विकास (एनसीसीडी कार्यालय), इंडो ग्लोबल एसएमई चैंबर, राष्ट्रीय कौशल फाउंडेशन ऑफ इंडिया (एनएसएफआई), विश्व खाद्य कार्यक्रम, कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीईडीए), भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई), नीति आयोग, डीकेएसएच इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, याकुल्ट डानोन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, एप्लाइड इकोनॉमिक रिसर्च नेशनल काउंसिल, भारतीय उद्योग परिसंघ, आईडीएच, एफएसएडीएआई 26 मार्च को आयोजित होने वाले गोलमेज सम्मेलन में भाग लेंगे।

कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने कहा कि किसान को सीधे बाजार से जोड़ना है ताकि उनकी आमदनी बढ़ाई जा सके। किसानों हितों के लिए सरकार बजट में कोई कंजूसी नहीं करेगी। कॄषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन से प्रेरित होकर आ रही कंपनियां किसानों को इनाम से सम्मानित करेंगी।

समिट के दौरान किसानों के लिए विभिन्‍न स्‍पर्धाओं का अायोजन किया गया। इसमें विजेता किसानों को सम्‍मानित किया गया। यह शिखर सम्‍मेलन तीन दिन चलेगा। प्रतियोगिता के दौरान सिरसा के 21 साल के किसान विनोद ने सोनालिका का ट्रैक्टर जीता।

समिट में भाग लेते प्रगतिशील किसान।

शिखर सम्‍मेलन में हरियाणा की औद्योगिक प्रोत्साहन नीति पर एक संक्षिप्त प्रस्तुतीकरण उद्योग और वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव सुधीर राजपाल ने दी। राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस के दौरान कृषि और कृषि व्यवसाय क्षेत्रों के विकास में हरियाणा राज्य के अनुभव, कृषि व्यवसाय विकास के क्षेत्र में वैश्विक प्रथाओं और कृषि विपणन, कृषि व्यवसाय में अंतरराष्ट्रीय निवेश के लिए मुख्य अवसरों पर चर्चा की जाएगी। इसी प्रकार, उच्च कृषि विकास, रोजगार और किसानों की आय के लिए कृषि उद्योग और खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में भी चर्चा की जाएगी। आईएफएडी (यूएन) के कंट्री हेड डॉ राशा उमर सत्र का संचालन करेंगे।

You may also like

बहराइच: मंत्री लगा रहीं ठुमके, बुखार से बच्चों की मौत का क्रम जारी

बहराइच तथा पास के जिलों में संक्रामक बुखार