आरबीआई ने बड़े निजी बैंकों के प्रमुखों का बोनस रोका

- in महाराष्ट्र, राज्य

 31 मार्च, 2017 को खत्म वित्त वर्ष के लिए निजी क्षेत्र के जिन बैंकों के शीर्ष अधिकारियों को अब तक बोनस नहीं मिला है, उनमें एचडीएफसी बैंक, आइसीआइसीआइ और एक्सिस बैंक शामिल हैं। वजह यह रही कि रिजर्व बैंक ने इन अधिकारियों को प्रस्तावित बोनस भुगतान के दस्तावेज पर अब तक हस्ताक्षर नहीं किए हैं। सूत्रों ने पहचान न बताने की शर्त पर यह जानकारी दी लेकिन विस्तृत जानकारी देने से यह कहकर मना कर दिया कि ये निहायत निजी सूचनाएं हैं। एक्सिस बैंक के प्रवक्ता ने इस मसले पर कुछ भी बोला। एचडीएफसी व आइआइसीआइ बैंक के प्रवक्ताओं ने भी ई-मेल और फोन कॉल का जवाब नहीं दिया। खबर लिखे जाने तक आरबीआइ को भेजे गए ई-मेल का भी जवाब नहीं आया।

तीन करोड़ तक बोनस

शेयर बाजारों को भेजी गई सूचना के मुताबिक आइसीआइसीआइ बैंक के निदेशक मंडल ने सीईओ चंदा कोचर को 2.2 करोड़ रुपये के बोनस की मंजूरी दी है। एक्सिस बैंक की प्रमुख शिखा शर्मा को 1.35 करोड़ रुपये का बोनस मिलना है जबकि एचडीएफसी बैंक के एमडी आदित्य पुरी को बोनस के तौर पर तकरीबन 2.9 करोड़ रुपये मिलने हैं।

डिफॉल्ट के मामले छिपाए 

हालांकि निजी क्षेत्र के बैंकों की हालत सार्वजनिकक्षेत्र के प्रतिस्पर्धी बैंकों के मुकाबले बेहतर मानी जाती है लेकिन पिछले साल उन्होंने मुश्किल दौर का सामना किया। फंसे कर्ज यानी एनपीए और कथित तौर पर कॉरपोरेट गवर्नेंस में गड़बडिय़ां इनमें शामिल हैं। 

 

You may also like

बहराइच: मंत्री लगा रहीं ठुमके, बुखार से बच्चों की मौत का क्रम जारी

बहराइच तथा पास के जिलों में संक्रामक बुखार