Home > राज्य > बिहार > बिहार में बारिश से पानी-पानी हुआ पूरा प्रदेश, उफान में आई नदियाँ

बिहार में बारिश से पानी-पानी हुआ पूरा प्रदेश, उफान में आई नदियाँ

पटना। पिछले तीन दिनों से रुक-रुक कर हो रही बारिश से पटना और जिला मुख्यालय शहरों की स्थिति बिगड़ गई है। राजधानी पटना के सड़कों-गलियों से लेकर घरों तक जिधर देखो पानी ही पानी दिख रहा है। ग्रामीण इलाकों से आकाशीय बिजली की चपेट में आने और उफनाई नदी, पोखर-तालाब में डूबने से करीब दर्जन भर लोगों की मौत हुई है। सिर्फ बेगूसराय में तीन लोगों की ठनका और तीन लोगों की डूबने से मौत हो गई है।बिहार में बारिश से पानी-पानी हुआ पूरा प्रदेश, उफान में आई नदियाँ

राजधानी पटना में जगह-जगह जल-जमाव का नजारा है। पटना के निचले इलाकों में तो लोगों का घरों ने निकलना मुश्किल हो गया है। बारिश के कारण कल पटना के व्‍यस्‍त बेली रोड पर पर एक जगह जमीन धंस गई तो उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी के आवास में भी पानी घुस गया। सोमवार को सुबह में बारिश नहीं होने के कारण आज राहत की उम्‍मीद है। जल-जमाव का स्‍तर रविवार से कम हुआ है, लेकिन अभी स्थिति बदहाल बनी हुई है। इस बीच तालाब बने पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्‍पताल से आज पानी निकालने का काम चल रहा है।

रोहतास में सोहगी नदी का पानी घरों में घुसा

कैमूर पहाड़ी से आने वाली सोहगी नदी का पानी प्रखंड के पंडुका गांव के करीब दर्जन भर घरों में प्रवेश कर गया है। इससे हजारों की संपत्ति व अनाज का नुकसान हुआ है। ग्रामीणों ने सोहगी नदी पर सिंचाई के लिए जो बांध बनाया था, उसके टूटने से ऐसा हुआ।

कैमूर में दुर्गावती नदी उफनाई, सैकड़ों एकड़ खेत डूबे

कुदरा प्रखंड मुख्यालय व पुसौली बाजार के दक्षिण दुर्गावती नदी के के उफनाने से कदई व रामडिहरा गांवों के करीब 500 एकड़ धान लगे खेत डूब गए हैं। ग्रामीणों द्वारा बनाए  पुल के डूबने से नदी के दक्षिण में बसे दर्जनों गांवों के लोगों को नाव से कुदरा बाजार आना-जाना पड़ रहा है। वहीं लरमा पंप कैनाल के चलने से ग्राम खजुरा रेलवे लाइन बराज के पास नहर का मुख्य तटबंध टूट गया। 

नालंदा में डीएम-एसपी आवास में भी घुसा पानी

लगातार बारिश से पूरा शहर जलमग्न हो गया। डीएम-एसपी से लेकर तमाम वीआइपी इलाकों में घुटने भर से अधिक पानी जमा है। डीएम-एसपी व नगर आयुक्त के आवासों में पानी घुसने और सांप-बिच्छू के डर से कई अधिकारी सुरक्षित ठिकाना ढूंढने में लगे हैं।  नगरवासी लाखों-करोड़ों खर्च कर जलनिकासी के बड़े-बड़े दावे करने वाले नगर निगम को जमकर कोस रहे हैं।

छपरा में पुल पर चढ़ा पानी, परिचालन बंद

छपरा जिले में जलजमाव और घरों में पानी घुसने से  नारकीय स्थिति बनी हुई है। छपरा के सरकारी बस पड़ाव में भी जल-जमाव हो गया है। छपरा-पटना मुख्यमार्ग पर दिघवारा व शीतलपुर के बीच मही नदी पर पट्टी पुल के दक्षिणी ओर डायवर्सन पर पानी चढ़ जाने से रविवार को भी परिचालन बंद रहा। पटना  जाने के लिए दो पहिया व चारपहिया वाहनों को बेला रेलपहिया कारखाना से गुजारा जा रहा है।

Loading...

Check Also

पीडीपी-कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनाने की कोशिश, 2002 और 2007 में भी हुआ था गठजोड़

जम्मू-कश्मीर की अप्रत्याशित राजनीति में एक नई सुगबुगाहट शुरू हुई है। रियासत में पीडीपी-कांग्रेस गठबंधन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com